भगत सिंह कोश्यारी ने बुधवार को महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 26, 2019   19:40
भगत सिंह कोश्यारी ने बुधवार को महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया

विधानसभा के अस्थायी अध्यक्ष कालीदास कोलाम्बकर सुबह आठ बजे आरंभ होने वाले सत्र में शपथ ग्रहण कराएंगे। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उच्चतम न्यायालय के आदेश पर कोलाम्बकर को मंगलवार शाम अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त किया।

मुंबई। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बुधवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है जहां अस्थायी अध्यक्ष द्वारा 288 नवनियुक्त सदस्यों को शपथग्रहण कराए जाने के बाद शक्ति परीक्षण कराया जाएगा। यह जानकारी एक अधिकारी ने मंगलवार को दी।

विधानसभा के अस्थायी अध्यक्ष कालीदास कोलाम्बकर सुबह आठ बजे आरंभ होने वाले सत्र में शपथ ग्रहण कराएंगे। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उच्चतम न्यायालय के आदेश पर कोलाम्बकर को मंगलवार शाम अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त किया। न्यायालय ने बुधवार को शक्ति परीक्षण का आदेश दिया है। अधिकारी ने कहा, ‘‘राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बुधवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है। सत्र 288 सदस्यों के शपथग्रहण समारोह के लिए सुबह आठ बजे आरंभ होगा। शपथग्रहण के बाद अस्थायी अध्यक्ष शक्ति परीक्षण का आह्वान करेंगे।’’ महाराष्ट्र में चल रही राजनीतिक उथल-पुथल के कारण नवनिर्वाचित विधायक विधानसभा परिणाम घोषित किए जाने के एक महीने बाद भी शपथ ग्रहण नहीं कर पाए हैं।

इसे भी पढ़ें: अजित पवार की हुई घर वापसी! डिप्टी सीएम पद से दिया इस्तीफा

किसी भी राजनीतिक दल के सरकार गठित नहीं कर पाने के कारण राज्य में 12 नवंबर से 23 नवंबर तक 13 दिन के लिए राष्ट्रपति शासन लागू रहा। न्यायालय ने मंगलवार को देवेंद्र फडणवीस सरकार को शक्ति परीक्षण का आदेश दिया और कोश्यारी को अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त करने और यह सुनिश्चित करने को कहा कि सदन के सभी निर्वाचित सदस्यों को बुधवार शाम पांच बजे तक शपथ ग्रहण करा दी जाए। हालांकि, भाजपा नीत सरकार मंगलवार दोपहर बाद उस समय गिर गई जब राकांपा नेता अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद से और उनके बाद देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। अजित पवार के समर्थन से भाजपा ने 23 नवंबर को सरकार बनाई थी। शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के गठबंधन ‘महा विकास आघाडी’ ने राज्यपाल को सोमवार को पत्र सौंपकर 162 विधायकों के समर्थन का दावा किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।