पुलवामा में हुई बड़ी सुरक्षा खामियां, अब दूर करने की जरूरत: कांग्रेस

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 19 2019 11:36AM
पुलवामा में हुई बड़ी सुरक्षा खामियां, अब दूर करने की जरूरत: कांग्रेस
Image Source: Google

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस बेहद जिम्मेदार पार्टी है और वह पुलवामा की घटना के बाद संयमित रही।

नयी दिल्ली। पुलवामा आतंकी हमले पर कुछ दिनों तक राजनीतिक बयान देने में संयम बरतने के बाद मंगलवार को कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि बड़ी सुरक्षा खामियां हुई हैं। पार्टी ने यह भी कहा कि अब प्रधानमंत्री वादा करें कि वह पाकिस्तान जाकर 'झप्पी' नहीं डालेंगे और अपने कहे मुताबिक कदम उठाएंगे। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस बेहद जिम्मेदार पार्टी है और वह पुलवामा की घटना के बाद संयमित रही। 2014 से पहले नरेंद्र मोदी छोटी से छोटी घटना पर बहुत भड़काऊ बयान देते थे और तत्कालीन प्रधानमंत्री का इस्तीफा मांगते थे।

इसे भी पढ़ें: पुलवामा से भी बड़ा गुजरात में हो सकता है आतंकी हमला, IB ने जारी किया अलर्ट



उन्होंने कहा कि हमने उरी, संसद हमले और पुलवामा के बाद भी यह नहीं किया। लेकिन बड़ी सुरक्षा ख़ामियों को दूर करना होगा ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं हों। सिंघवी कहा कि कुल 78 वाहनों में 2500 जवानों को ले जाने का हास्यास्पद विचार था, सुरक्षा बलों के गुजरते समय ही आम लोगों के वाहनों के आने जाने की इजाजत दी गयी, जैश-ए-मोहम्मद की ओर से आत्मघाती हमले किये जाने संबन्धी खुफिया रिपोर्ट की अनदेखी क्यों की गई। क्या 56 इंच के सीने द्वारा यही ध्यान दिया गया?

इसे भी पढ़ें: पुलवामा पर राजनीतिक लाभ का प्रयास करने वालों को जनता माफ नहीं करेगी

पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि मोदी जी, आप कहते हैं कि बातचीत करने का समय बीत गया है। शायद आप सही हों, लेकिन अब कहने के मुताबिक करने का समय है। उन्होंने 2015 में हुए प्रधानमंत्री मोदी के पाकिस्तान दौरे का हवाला देते हुए कहा कि आप हमसे वादा करिये-अब कोई झप्पी नहीं डालेंगे, अब कोई जन्मदिन का जश्न नहीं होगा। गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि पार्टी कुछ दिनों तक राजनीतिक चर्चा नहीं करेगी और वह अपने जवानों एवं सरकार के साथ खड़ी है। गत 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकी हमले में सीआरपीएफ के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए थे।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video