भाजपा के प्रशिक्षण वर्ग में शामिल हुए शिवराज, माफिया और कृषि कानून पर दिया बड़ा बयान

Shivraj
दिनेश शुक्ल । Dec 14, 2020 11:52PM
मुख्यमंत्री ने ड्रग माफिया और भू-माफिया के खिलाफ जारी कार्रवाई पर सख्त रूख दिखाते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में चाहे ड्रग माफिया, भू-माफिया या अवैध काम करने वाले कोई भी हों, उन्हें किसी भी कीमत पर हम नहीं छोड़ेंगे।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को भोपाल में भाजपा टीटी नगर मंडल के प्रशिक्षण वर्ग में शामिल हुए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस प्रशिक्षण वर्ग में प्रशिक्षणार्थी के तौर पर शामिल हुए। भाजपा के टीटी नगर मंडल प्रशिक्षण वर्ग का आयोजन नर्मदा भवन में हो रहा है। इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ चल रही कार्रवाई और किसान कानून पर बयान दिया। 

इसे भी पढ़ें: उज्जैन-भोपाल संभाग में किसान सम्मेलन 15 को, मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष करेंगे संबोधित

मुख्यमंत्री ने ड्रग माफिया और भू-माफिया के खिलाफ जारी कार्रवाई पर सख्त रूख दिखाते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में चाहे ड्रग माफिया, भू-माफिया या अवैध काम करने वाले कोई भी हों, उन्हें किसी भी कीमत पर हम नहीं छोड़ेंगे। कानूनी कार्रवाई होगी और आर्थिक कमर भी तोड़ दी जायेगी। लगातार कार्रवाई हो रही है। माफिया मध्य प्रदेश छोड़ दें, नहीं तो परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

इसे भी पढ़ें: भय-भ्रम की राजनीति करने वाले बताएं, किसानों को अधिकार मिलना चाहिए या नहीं ? : विष्णुदत्त शर्मा

उन्होंने इस दौरान किसान कानून को लेकर कहा कि नये कृषि कानूनों का किसानों को लाभ मिल रहा है। दिल्ली की कंपनी ने पिपरिया के किसानों से 3 हजार रुपये प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी का अनुबंध किया था। कंपनी ने बाद में खरीदी में आनाकानी की, तो एसडीएम ने कार्रवाई की और किसानों को न्याय मिला। कांग्रेस लोगों को भ्रमित न करे।

 

इसे भी पढ़ें: आगामी तीन वर्षों में देश का सर्वाधिक विकसित राज्य बनेगा मध्य प्रदेश : गोपाल भार्गव

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस के ट्वीट पर पलटवार करते हुए कहा कि तीनों कृषि कानून किसानों के हित में हैं। कल कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला जी ने ट्वीट किया कि मध्य प्रदेश में किसान परेशान हैं। कांग्रेस के मित्र कब तक पाखंड करेंगे, कब तक झूठ बोलेंगे? हमने मध्य प्रदेश में मंडी शुल्क को 2 रुपये से घटाकर 50 पैसे किया है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़