विपक्ष की पीएम मोदी को दी गई 56 गालियां हमारे लिए 56 भोग के समान: गडकरी

By अभिनय आकाश | Publish Date: May 9 2019 4:55PM
विपक्ष की पीएम मोदी को दी गई 56 गालियां हमारे लिए 56 भोग के समान: गडकरी
Image Source: Google

कांग्रेस के न्याय पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता ने कहा ये न्याय नहीं है, आज तक हुए अन्याय की बात है। 1971 के युद्ध के दौरान अटल जी के नेतृत्व में सभी विपक्षी दलों ने तब की प्रधानमंत्री इंदिरा जी का समर्थन किया था और कहा कि देश की सुरक्षा में हम साथ हैं।

नई दिल्ली। रोटी, कपड़ा और मकान मांग रहा है हिन्दुस्तान, कभी ये नारा लगा करता था और बात होती थी इंसान की बुनियादी जरुरतों की। लेकिन कैलेंडर में साल बदल गया और साल 2019 में मान, सम्मान और अपमान पर बहस होने लगी। पीएम मोदी पर विपक्षी दलों के प्रहार के जवाब में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जवाब दिया है। गडकरी ने कहा कि निराश विपक्ष ने देश के प्रधानमंत्री मोदी को 56 गालियां दी हैं। ये 56 भोग की तरह है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसी पार्टी के नहीं बल्कि देश के होते हैं। दुर्भाग्यवश प्रधानमंत्री के मान सम्मान की बजाय विपक्ष और खास तौर से कांग्रेस के द्वारा उन पर अभद्र टिप्पणियां की गई। इनकी पीढ़ियां गरीबी हटाओ की बात करती रही, लेकिन गरीबी हटी नहीं। अब राहुल जी भी वही बात कह रहे हैं, तो इनकी विश्वनियता कहां हैं?

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान ने आतंकवाद को समर्थन बंद नहीं किया तो भारत उसका पानी रोक देगा: गडकरी

कांग्रेस के न्याय पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता ने कहा ये न्याय नहीं है, आज तक हुए अन्याय की बात है। 1971 के युद्ध के दौरान अटल जी के नेतृत्व में सभी विपक्षी दलों ने तब की प्रधानमंत्री इंदिरा जी का समर्थन किया था और कहा कि देश की सुरक्षा में हम साथ हैं। कांग्रेस ने परफॉर्मेंस और कार्य चुनाव का मुद्दा न बने, इसके लिए विपक्ष दो बातों पर चुनाव को लेकर गये। पहला दलितों, माइनोरिटी, एससी-एसटी के मन में डर पैदा करना और दूसरा विकास के जो काम 50 साल में नहीं हुए और 5 साल में हुए, उस पर चर्चा न करके जानबूझकर गंदी-गंदी टिप्पणियां करना। बता दें कि पीएम मोदी ने भी कल हरियाणा के कुरुक्षेत्र की रैली में कहा था कि कांग्रेस के लोग मुझे प्रेम के नाम पर गालियां देते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने भावुक अंदाज में कहा था कि इनके प्रेम वाली डिक्‍शनरी में मेरे लिए तरह-तरह की गालियां हैं। इन लोगों ने मेरे लिए क्‍या-क्‍या नहीं कहा, क्‍या-क्‍या नहीं गालियां दीं। मेरे प्रधानमंत्री बनने के बाद इन्‍होंने मेरी मां को गालियां दीं और यह भी पूछा कि मेरे पिता कौन हैं। इनके गालियों की परवाह न कर देश की सेवा कर रहा हूं।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video