होटल में चल रहा था देह व्यापार का धंधा, अचानक पुलिस की रेड पड़ते ही नग्न अवस्था में भागे लोग

prostitution
pixabay free
रेनू तिवारी । Apr 13, 2022 12:45PM
कांगड़ा के पुलिस अधीक्षक खुशाल शर्मा ने बताया कि पुलिस की एक टीम ने सोमवार रात पंजाब की सीमा पर स्थित दमताल के एक होटल में छापेमारी की, जिसमें पांच महिलाओं को बरामद किया गया। उन्होंने बताया, “हमें गुप्त सूचना मिली थी कि दमताल के एक होटल में देह व्यापार का धंधा चल रहा है।

धर्मशाला। सेक्स रैकेट से जुड़े पहले भी कई बड़े मामले सामने आ चुके हैं। पिछले कुछ सालों में देह व्यापार जैसे कामो का विस्तार होता जा रहा है। इस अपराध में कई होटल वाले शामिल होते हैं। कमीशन के चक्कर में कई होटल ऐसे काम को बढ़ावा देते हैं। ताजा घटना के हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा से हैं। जहां  हिमाचल प्रदेश पुलिस ने कांगड़ा जिले में एक सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ करने का दावा किया और मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

 

इसे भी पढ़ें: राज ठाकरे की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज हो सकता है मुकदमा

 

हिमाचल पुलिस ने अचानक मारी होटल में रेड

कांगड़ा के पुलिस अधीक्षक खुशाल शर्मा ने बताया कि पुलिस की एक टीम ने सोमवार रात पंजाब की सीमा पर स्थित दमताल के एक होटल में छापेमारी की, जिसमें पांच महिलाओं को बरामद किया गया। उन्होंने बताया, “हमें गुप्त सूचना मिली थी कि दमताल के एक होटल में देह व्यापार का धंधा चल रहा है। एक विशेष टीम का गठन किया गया जिसने सोमवार को होटल में छापा मारा और यह ऑपरेशन मंगलवार सुबह तक जारी रहा।’’

 

इसे भी पढ़ें: अनोखा जॉब ऑफर! पॉर्न देखने के लिए हर घंटे मिलेंगे 1500 रूपए, कोई भी कर सकता है अप्लाई

 

आपत्तिजनक अवस्था में थे कमरे में लोग 

वहां पर मौजूद लोगों के अनुसार पुलिस को होटल में देह व्यापार चलने की सूचना मिली थी जिसके बाद उन्होंने रेड मारी। इस दौरान उन्होंने कई लोगों को आपत्ति जनक अवस्था में भी देखा। पुलिस को देखते ही वह लोग जिस अवस्था में थे उसी अवस्था में अधर उधर भागने लगे।  

 

होटल मालिक के खिलाफ मामला दर्ज

होटल मालिक के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं और अनैतिक व्यापार रोकथाम अधिनियम 1956 की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।शर्मा ने कहा कि मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और मामले की जांच जारी है।

 

इसके अलावा वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को स्वापक एवं मन: प्रभावी पदार्थ अधिनियम, हिमाचल प्रदेश आबकारी अधिनियम एवं अवैध खनन से संबंधित प्रकरणों में कार्यवाही करने के सख्त निर्देश दिये गये हैं। गर्मी के मौसम में जिले में बढ़ती पर्यटन गतिविधि को देखते हुए सभी थानों को कानून व्यवस्था बनाए रखने और जिले में प्रभावी यातायात प्रबंधन के आदेश दिए गए हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़