मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एचएयू में किया अनेक परियोजनाओं का उद्घाटन

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एचएयू में किया अनेक परियोजनाओं का उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय की वर्चुअल कृषि समाधान सेवा को किसानों को समर्पित किया। इस सेवा के शुरू होने से हरियाणा के किसान व पशुपालक अब घर बैठे अपनी समस्याओं का स्टीक समाधान प्राप्त कर पाएंगे। इस सुविधा के आरम्भ होने से विशेषज्ञ फसल में आई समस्या को स्क्रीन पर देखकर किसान को उस समस्या का स्टीक समाधान बता पाएंगे। इससे किसान के समय और खर्च की बचत होगी।

चंडीगढ़   मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने आज चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में कृषि विज्ञान एवं हरियाणवी संस्कृति को संजोए हुए डॉ. मंगलसेन कृषि संग्रहालय का उद्घाटन किया। उन्होंने संग्रहालय में स्थापित हरियाणा के पूर्व उप मुख्यमंत्री डॉ. मंगल सेन की प्रतिमा का भी अनावरण किया। इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय परिसर में मदन लाल ढींगरा बहुउद्देशीय हॉल तथा कॉम्बैट होल का भी उद्घाटन किया।

 

मुख्यमंत्री ने डॉ. मंगलसेन कृषि संग्रहालय संग्रहालय का भ्रमण किया और यहां प्रदर्शित विश्वविद्यालय की ऐतिहासिक प्रौद्योगिकियों, त्री-आयामी (थ्री-डी मॉडल), हरियाणा की गौरवपूर्ण विकास यात्रा के साथ हरियाणवी संस्कृति को दर्शाने वाले ग्रामीण पुरातन संग्रहालय का अवलोकन किया। इस संग्रहालय में आगंतुकों को एक ही छत के नीचे विश्वविद्यालय की विशिष्ठ उपलब्धियों, कृषि व कृषक हितैषी कार्यों के साथ-साथ हरियाणा की गौरवमयी संस्कृति एवं ऐतिहासिक धरोहरों की जानकारी मिल सकेगी।

इसे भी पढ़ें: शहीदों की बदौलत आज हम खुली हवा में ले रहे सांसःमुख्यमंत्री

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय देश के प्रतिष्ठित कृषि विश्वविद्यालयों में से एक है। विश्वविद्यालय परिसर में लगाई गई कृषि विश्वविद्यालय एक दृष्टि में प्रदर्शनी ग्रामीण क्षेत्रों के जन जीवन व युवा पीढ़ी को निश्चित रूप से प्रेरणा देगी।

इसे भी पढ़ें: हमने हरियाणा के आम बजट को दी नई दिशाः मुख्यमंत्री मनोहर लाल

मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय की वर्चुअल कृषि समाधान सेवा को किसानों को समर्पित किया। इस सेवा के शुरू होने से हरियाणा के किसान व पशुपालक अब घर बैठे अपनी समस्याओं का स्टीक समाधान प्राप्त कर पाएंगे। इस सुविधा के आरम्भ होने से विशेषज्ञ फसल में आई समस्या को स्क्रीन पर देखकर किसान को उस समस्या का स्टीक समाधान बता पाएंगे। इससे किसान के समय और खर्च की बचत होगी।

इसे भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हरियाणा की नागरिक उड्डयन नीतियों की हुई चर्चा - डिप्टी सीएम

मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय के गिरि सेंटर में नवनिर्मित मदन  लाल ढ़ींगरा मल्टी पर्पज़ हॉल और काम्बैट हॉल का भी उद्घाटन किया। इस मल्टी पर्पज़ हॉल का निर्माण खेलो इंडिया स्कीम के तहत केन्द्रीय खेल मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई 8 करोड़ रुपये की अनुदान राशि से किया गया है। इस वातानुकुलित हाल में लगभग सभी इंडोर खेलों जैसे वॉलीबॉल, हैंडबाल, कबड्डी, टेबल टैनिस, बैडमिंटन, जूडो, वुशु, बास्केटबाल आदि का आयोजन किया जा सकेगा।  इस हाल का फर्श पीयू रबर से बनाया गया है तथा यह पूर्ण रूप से फ्लड एलईडी लाइट से सुसज्जित है।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री ने दिलाई सेवानिवृत IAS विजय वर्धन को राज्य मुख्य सूचना आयुक्त की शपथ

मुख्यमंत्री ने मेरी फसल-मेरा ब्यौरा व कृषि विपणन से संबंधित जानकारी लेने के लिए लगाए गए किसान किओस्क का अवलोकन भी किया और एक प्रतिरूपित किसान को सांकेतिक रूप से मोबाइल फोन देकर जानकारी भी ली। विश्वविद्यालय परिसर में लगी यह प्रदर्शनी कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरूक्षेत्र में स्थापित धरोहर की तर्ज पर लगाई गई थी, परंतु इसमें ग्रामीण जन जीवन के साथ-साथ कृषि क्षेत्र को प्राथमिकता से दर्शाया गया था।

इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने इंदिरा गांधी सभागार से बीड़ में बनाए जा रहे बाल सुधारगृह के समेकित परिसर, लघु सचिवालय परिसर में बनाए जा रहे 4000 यूनिट के इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन व वी.वी.पेट वेयरहाउस तथा लाला लाजपत राय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय में स्थापित किए जा रहे 33 के.बी. सब-स्टेशन की आधारशिला भी रखी।

इस अवसर पर कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जेपी दलाल, शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता , विधानसभा उपाध्यक्ष श्री रणबीर गंगवा , विधायक श्री विनोद भयाना, उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी, कुलपति डॉ बीआर कंबोज के अलावा विश्वविद्यालय की संकाय सदस्य व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...