चीन ने LAC पर भेजे लड़ाकू विमान, अब मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत S-400 मिसाइल एयर डिफेंस सिस्‍टम करेगा तैनात

LAC
prabhasakshi
अभिनय आकाश । Jul 25, 2022 7:42PM
वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलएसी पर चीन की बढ़ती चालबाजी और उकसाने वाली गतिविधियों का जवाब देने के लिए भारत अपना सुरक्षा घेरा मजबूत कर रहा है। भारतीय सेना चीन की नापाक हरकत का जवाब देने के लिए एलएसी पर नए एयर डिफेंस सिस्टम एस 400 की तैनाती करने की तैयारी में है।

एक तरफ भारत और चीन की सेना पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में तनाव को कम करने के लिए बातचीत कर रही है। वहीं दूसरी तरफ चीन की वायुसेना ने एलएसी के पास लड़ाकू विमान भेज दिए हैं। सूत्रों के मुताबिक चीनी सेना के ये लड़ाकू विमान पूर्वी लद्दाख सेक्टर में एलएसी के बहुत ही करीब उड़ान भरते नजर आए। लेकिन अब चीन को भी मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत ने भी अपनी तैयारियों को तेज कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार चीन की आक्रमकता को देखते हुए भारत कुछ ही समय में अपने दूसरे एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम को चीन की सीमा पर सक्रिय कर देगा। 

इसे भी पढ़ें: जिनपिंग ने दी द्रौपदी मुर्मू को बधाई, कहा- पूरी दुनिया में शांति, स्थिरता और विकास के लिए जरूरी हैं भारत चीन के बीच का मजबूत संबंध

वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलएसी पर चीन की बढ़ती चालबाजी और उकसाने वाली गतिविधियों का जवाब देने के लिए भारत अपना सुरक्षा घेरा मजबूत कर रहा है। भारतीय सेना चीन की नापाक हरकत का जवाब देने के लिए एलएसी पर नए एयर डिफेंस सिस्टम एस 400 की तैनाती करने की तैयारी में है। रक्षा सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चीन की करतूतों का माकूल जवाब देने के लिए इसे दो से तीन महीनों में एलएसी पर तैनात कर दिया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: चीन से आई एक भयावह वीडियो सामने, देखने के बाद कंपा देगी रूह, देखे ये वीडियो

रूस से खरीदे जा रहे एस 400 को दुनियाभर के बेहतरीन एयर डिफेंस सिस्टम में गिना जाता है। ये समय रहते सेना को भारती की तरफ आने वाले फाइटर जेट्स मिसाइल और ड्रोन की जानकारी दे देगा और जरूरत पड़ी तो मार भी गिरा दिया जाएगा। पूर्वी लद्दाख में तनातनी के बीच भारत और चीन ने भरोसा बहाली के लिए एलएसी के 10 किलोमीटर के दायरे में लड़ाकू विमान नहीं भेजने पर सहमति बनाई थी। लेकिन हाल के दिनों में चीन ने कई बार इसका उल्लंघन किया है। चीन के फाइटर जेट्स एलएसी के करीब देखे गए हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़