कांग्रेस ने अर्नब गोस्वामी के खिलाफ की शिकायत, सोनिया गांधी पर अभद्र टिप्पणी करने का लगाया आरोप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 23, 2020   07:53
कांग्रेस ने अर्नब गोस्वामी के खिलाफ की शिकायत, सोनिया गांधी पर अभद्र टिप्पणी करने का लगाया आरोप

कांग्रेस ने ने अर्नब गोस्वामी पर पालघर मामले में अपने वक्तव्य से देश की जनता के सद्भाव को समुदाय के आधार पर भड़काने और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर टिप्पणी करने का आरोप लगाया है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले की पुलिस ने कांग्रेस नेताओं की शिकायतों पर एक टीवी समाचार चैनल के संपादक अर्नब गोस्वामी के खिलाफ दो अलग- अलग मामले दर्ज किए। रायपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने अर्नब गोस्वामी पर पालघर मामले में अपने वक्तव्य से देश की जनता के सद्भाव को समुदाय के आधार पर भड़काने और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर टिप्पणी करने का आरोप लगाया है।

इसे भी पढ़ें: सोनिया गांधी पर पत्रकार की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस-भाजपा में तकरार

वहीं कांग्रेस नेता गिरीश दुबे ने गोस्वामी पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी द्वारा प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कोरोना वायरस को लेकर दिए गए सुझावों को गलत ढंग से पेश करने का आरोप लगाया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मरकाम और सिंहदेव ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है कि समाचार चैनल पर उसके संपादक अर्नब गोस्वामी ने मंगलवार को महाराष्ट्र के पालघर में संत की भीड़ द्वारा हत्या कर दिए जाने पर ‘पूछता है भारत’ डिबेट कार्यक्रम किया था। इसमें अर्नब गोस्वामी ने अपने वक्तव्य से देश की जनता के सद्भाव को समुदाय के आधार पर भड़काया। साथ ही देश के विभिन्न समुदायों के बीच नफरत का वातावरण बनाया गया है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस नेताओं ने शिकायत की है कि अपने डिबेट के दौरान गोस्वामी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी गलत टिप्पणी की है।

इसे भी पढ़ें: सूचना प्रसारण मंत्रालय ने कोविड-19 घटनाओं को कवर कर रहे मीडियाकर्मियों से एहतियात बरतने को कहा

अधिकारियों ने बताया कि कांग्रेस नेताओं की शिकायत के बाद पुलिस ने संपादक अर्नब गोस्वामी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस नेता गिरीश दुबे ने भी गोस्वामी के खिलाफ एक शिकायत सिविल लाइंस थाना में दी है। दुबे ने आरोप लगाया कि गोस्वामी ने 16 अप्रैल को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी द्वारा प्रेस कांफ्रेंस में कोरोना वायरस रोग के रोकथाम के लिए दिए गए सुझावों को गलत ढंग से पेश किया तथा झूठी खबर अपने चैनल में प्रसारित किया। यह केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा महामारी अधिनियम 1897 के तहत जारी किए गए आदेशों का उलंघन है। इस आदेश में कहा गया है कि कोविड 19 के सदंर्भ में कोई भी अफवाह या गलत समाचार प्रकाशित या प्रसारित नहीं करेगा।

इसे भी पढ़ें: संतों की मॉब लिंचिंग पर कोई बुद्धिजीवी बोलता क्यों नहीं? कोई अवार्ड लौटाता क्यों नहीं?

अधिकारियों ने बताया कि दुबे की शिकायत पर भी गोस्वामी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। रायपुर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख ने बताया कि गोस्वामी के खिलाफ दो अलग-अलग शिकायतों पर दो मामले दर्ज किए गए हैं। मामले की जांच की जा रही है। इधर राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘रिपब्लिक और आर. भारत टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी के इस अनर्गल बकवास को पत्रकारिता कह सकते हैं? यह तो सांप्रदायिक हिंसा भड़काने का कुत्सित प्रयास है। न की मर्यादा न किसी की मान मर्यादा का ध्यान। यह तो अपराध है। संज्ञेय और दंडनीय अपराध।’’ उन्होंने कहा कि हमारे रिपब्लिक का कानून फर्जी रिपब्लिक को सबक सिखाने में सक्षम है। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘‘मैं न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन और एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया से संपादक और उनके चैनल के खिलाफ उचित कार्रवाई करने का आग्रह करता हूं। मुझे उम्मीद है कि उनके नियोक्ता उन्हें तुरंत इस्तीफा देने के लिए कहेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।