महंगाई को लेकर कांग्रेस का देशव्यापी आंदोलन, भोपाल से होगी शुरुआत

महंगाई को लेकर कांग्रेस का देशव्यापी आंदोलन, भोपाल से होगी शुरुआत

कांग्रेस कार्यकर्ता पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस, खाने के तेल, अनाज और मसालों के बढ़े हुए दामों के खिलाफ जन आंदोलन करेंगे। इस दौरान ताली और थाली बजाकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। इस आंदोलन की शुरुआत 31 मार्च से होगी।महंगाई के खिलाफ कांग्रेस देशव्यापी आंदोलन चलाने जा रही है।

भोपाल। देश मे लगातार महंगाई बढ़ रही है। पेट्रोल डीजल का दाम हो या गैस सिलिंडर का सबके दामों में उछाल आया रहा है। इस बढ़ती हुई महंगाई से जनता भी परेशान हो रही है। इसी महंगाई के खिलाफ कांग्रेस देशव्यापी आंदोलन चलाने जा रही है। भोपाल में पीसीसी चीफ कमलनाथ महंगाई मुक्त भारत आंदोलन की शुरुआत करेंगे।

दरअसल बताया जा रहा है कि कांग्रेस कार्यकर्ता पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस, खाने के तेल, अनाज और मसालों के बढ़े हुए दामों के खिलाफ जन आंदोलन करेंगे। इस दौरान ताली और थाली बजाकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। इस आंदोलन की शुरुआत 31 मार्च से होगी। इसी कड़ी में प्रदेश के सभी जिलों में विरोध प्रदर्शन होगा।

इसे भी पढ़ें:Fuel Price Hike | पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों में नौ दिन में आठवीं बार की गई बढ़ोतरी 

वहीं 4 अप्रैल को कांग्रेस की बड़ी बैठक होगी। इस बैठक में एमपी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ समेत सभी प्रदेश पदाधिकारी और विधायक शामिल रहेंगे। जानकारी मिली है कि इस बैठक में सदस्यता अभियान की समीक्षा की जाएगी।

जानकारी के अनुसार कांग्रेस की सदस्यता अभियान का टारगेट लक्ष्य के करीब नहीं पहुंचा है। सदस्यता अभियान में अब सिर्फ 2 दिन बाकी है। प्रदेश कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव होने से पहले सदस्यता अभियान अब अंतिम दौर में है। इसकी अंतिम तिथि 31 मार्च है।

इसे भी पढ़ें:भरतनाट्यम डांसर को प्रसिद्ध मंदिर में नहीं मिली डांस करने की अनुमति, केरल में छिड़ गया बड़ा विवाद 

आपको बता दें कि कांग्रेस ने 50 लाख सदस्य बनाने का टारगेट रखा था। टारगेट के लिए दो लाख 55 हजार किताबें वितरित की गई थी। अभी तक 15 से 20 लाख सदस्य बनने की संभावना है। 31 मार्च से पहले सभी को कांग्रेस कार्यालय में जमा करना होगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।