दिल्ली की वायु गुणवत्ता “बेहद खराब” श्रेणी में दर्ज की गई, सुधार की उम्मीद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 26, 2020   12:28
दिल्ली की वायु गुणवत्ता “बेहद खराब” श्रेणी में दर्ज की गई, सुधार की उम्मीद

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार चौबीस घंटे का औसत एक्यूआई बुधवार को 413, मंगलवार को 379 और सोमवार को 295 दर्ज किया गया था।

नयी दिल्ली। दिल्ली की वायु गुणवत्ता बृहस्पतिवार को “बेहद खराब” श्रेणी में दर्ज की गई और सरकारी एजेंसियों ने कहा कि हवा की गति बढ़ने के साथ इसमें सुधार की उम्मीद है। शहर में बृहस्पतिवार सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 374 दर्ज किया गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार चौबीस घंटे का औसत एक्यूआई बुधवार को 413, मंगलवार को 379 और सोमवार को 295 दर्ज किया गया था। उल्लेखनीय है कि शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘अत्यंत खराब’ और 401 से 500 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में किसानों का महाधरना, हरियाणा ने किया बॉर्डर सील

केंद्र सरकार की दिल्ली के लिए ‘वायु गुणवत्ता पूर्व चेतावनी प्रणाली’ ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर की वायु गुणवत्ता में बृहस्पतिवार को सुधार हो सकता है। एजेंसी ने कहा कि शुक्रवार को एक्यूआई “खराब” श्रेणी में जा सकता है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वायु गुणवत्ता निगरानी प्रणाली ‘सफर’ के अनुसार दिल्ली में वायु प्रदूषण में पराली जलाने का योगदान बुधवार को महज दो प्रतिशत रहा। मौसम विभाग ने कहा कि बृहस्पतिवार को न्यूनतम तापमान 10.4 डिग्री सेल्सियस रहा। अधिकतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...