सुशांत सिंह राजपूत मामले में ईडी को ईसीआईआर दर्ज करनी चाहिए: फडणवीस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 31, 2020   17:00
सुशांत सिंह राजपूत मामले में ईडी को ईसीआईआर दर्ज करनी चाहिए: फडणवीस

मुंबई पुलिस ने निर्देशक संजय लीला भंसाली, फिल्म समीक्षक राजीव मसंद, अभिनेत्री संजना सांघी, राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती, कास्टिंग निर्देशक शानू शर्मा, फिल्मकार मुकेश छाबड़ा और आदित्य चोपड़ा समेत कई बॉलीवुड हस्तियों के बयान दर्ज किए हैं।

मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को कहा कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को धनशोधन के पहलू से जांच के लिए प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईसीआईर) दर्ज करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मामले की जांच को सीबीआई को सौंपने को लेकर “विशाल जन भावना” है लेकिन राज्य की उद्धव ठाकरे नीत महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार ऐसा नहीं कर रही है। उन्होंने कहा, “सुशांत सिंह राजपूत मामले में लोगों के मन में बहुत भावनाएं है। उनको लगता है कि कुछ छिपाया जा रहा है, नये खुलासे हुए हैं। इसलिए,लोग इसमें सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।”

फडणवीस ने कहा, “लेकिन राज्य सरकार मामले में सीबीआई जांच से इनकार कर रही है।” राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ने एक वीडियो संदेश में कहा कि मामले में सीबीआई जांच की मांग जनता कर रही है न कि भाजपा। उन्होंने कहा, “अब धनशोधन का पहलू भी सामने आ गया है। यह पाया गया कि उनके खाते से पैसों की हेराफेरी हुई है। ऐसे मामले में, ईडी का भी अधिकार क्षेत्र बनता है, इसलिए मैंने मांग की है कि ईडी को ईसीआईआर दर्ज कर मामले की जांच करनी चाहिए।” महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि मुंबई पुलिस मामले की जांच में सक्षम है और इसलिए सीबीआई जांच की जरूरत नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: सुशांत मामले में बोले भाजपा नेता भूपेन्द्र यादव, परिवार को न्याय दिलाने में सब साथ हैं

मुंबई पुलिस ने निर्देशक संजय लीला भंसाली, फिल्म समीक्षक राजीव मसंद, अभिनेत्री संजना सांघी, राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती, कास्टिंग निर्देशक शानू शर्मा, फिल्मकार मुकेश छाबड़ा और आदित्य चोपड़ा समेत कई बॉलीवुड हस्तियों के बयान दर्ज किए हैं। पुलिस ने अब तक राजपूत के परिवार और उनके रसोइए समेत करीब 40 लोगों के बयान दर्ज किए हैं। राजपूत (34) 14 जून को बांद्रा स्थित अपने अपार्टमेंट में फांसी के फंदे से लटके मिले थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।