शरद पवार पर टिप्पणी करने वाले गोपीचंद पडलकर के खिलाफ FIR दर्ज, बताया था कोरोना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 26, 2020   22:06
शरद पवार पर टिप्पणी करने वाले गोपीचंद पडलकर के खिलाफ FIR दर्ज, बताया था कोरोना

महाराष्ट्र राकांपा युवा इकाई प्रमुख महबूब शेख की शिकायत के आधार पर मराठवाड़ा के बीड जिले में शिरूर कसर थाने में पडलकर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी।

मुंबई। राकांपा प्रमुख शरद पवार के खिलाफ ‘आपत्तिजनक’ टिप्पणी को लेकर भाजपा के विधान पार्षद गोपीचंद पडलकर के खिलाफ शुक्रवार को एक प्राथमिकी दर्ज की गयी। महाराष्ट्र के बीड जिले के एक थाने में यह एफआईआर दर्ज की गयी। अधिकारियों ने इस बारे में बताया। महाराष्ट्र राकांपा युवा इकाई प्रमुख महबूब शेख की शिकायत के आधार पर मराठवाड़ा के बीड जिले में शिरूर कसर थाने में पडलकर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी। पिछले दो दिनों में पडलकर के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज हुई है। पडलकर ने बुधवार को पवार को ‘कोरोना’ बताया था। उनकी इस टिप्पणी पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। विधान पार्षद ने आरोप लगाया था कि ढांगर (चरवाहा) समुदाय के लिए आरक्षण के मुद्दे पर पवार राजनीति कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: शरद पवार को लेकर पडलकर की टिप्पणी पर बोले चंद्रकांत पाटिल, गलत शब्दों का किया इस्तेमाल 

शेख ने कहा, ‘‘मैंने पवार साहब के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के लिए पडलकर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है। ’’ अपनी शिकायत में शेख ने कहा कि पडलकर ने कहा है कि पवार ‘कोरोना’ है जिन्होंने राज्य को संक्रमित किया है। शेख ने कहा कि पडलकर ने राकांपा प्रमुख पर ‘बहुजन समाज’ के खिलाफ अत्याचार का भी आरोप लगाया। शेख ने कहा, ‘‘पडलकर ने पवार साहब की तुलना कोरोना वायरस महामारी से करते हुए मेरी और अन्य लोगों की भावनाओं को आहत किया है। इससे समुदायों के बीच कटुता बढ़ेगी। इसलिए मैंने शिकायत दर्ज करायी।’’ 

इसे भी पढ़ें: गोपीचंड पडलकर के बयान पर बोले फडणवीस, भावनाओं में बहकर पवार के खिलाफ की टिप्पणी 

राकांपा कार्यकर्ताओं ने बृहस्पतिवार को बीड में भाजपा के विधान पार्षद का पुतला भी फूंका। बृहस्पतिवार को पुणे पुलिस ने विधान पार्षद के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। राकांपा की बारामती इकाई के पदाधिकारी अमर धूमल की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। राकांपा समर्थकों ने शुक्रवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों में पडलकर के खिलाफ प्रदर्शन किया। बहरहाल, सोलापुर जिले के पंढरपुर में पडलकर के समर्थकों ने उनका साथ देते हुए उनके पोस्टर को दूध और पानी से नहलाया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।