नौकरी लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी, युवक कांग्रेस के पदाधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 6, 2021   14:12
नौकरी लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी, युवक कांग्रेस के पदाधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की पुलिस ने नौकरी लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी करने के आरोप में युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव मोहम्मद शाहिद और छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस के सचिव जुल्फिकार सिद्दीकी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दुर्ग। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की पुलिस ने नौकरी लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी करने के आरोप में युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव मोहम्मद शाहिद और छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस के सचिव जुल्फिकार सिद्दीकी के खिलाफ मामला दर्ज किया है। दुर्ग जिले के पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को यहां बताया कि भिलाई शहर के खुर्सीपार थाने की पुलिस ने नौकरी लगवाने के नाम पर युवक से धोखाधड़ी करने के आरोप में शाहिद और सिद्दीकी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

इसे भी पढ़ें: धनशोधन मामले में अनिल देशमुख के सहायकों को 20 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया

उन्होंने बताया कि भिलाई निवासी अश्विनी कौशल की शिकायत पर दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि कौशल ने पुलिस को शिकायत दी थी कि वर्ष 2016 में व्यावसायिक परीक्षा मंडल के माध्यम से छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में छात्रावास अधीक्षक की भर्ती होनी थी। इस दौरान कौशल की मुलाकात मोहम्मद शाहिद से हुई थी। पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक शाहिद ने छात्रावास अधीक्षक के पद पर नौकरी लगवाने के नाम पर अश्विनी सहित उसके दो अन्य साथियों भूपेंद्र देवांगन और मदन कौशल से अग्रिम राशि के तौर पर पांच लाख 35 हजार रुपए लिए थे। आरोपों के मुताबिक इस मामले में शाहिद के मित्र और प्रदेश युवा कांग्रेस के सचिव जुल्फिकार सिद्दीकी की भी भूमिका थी।

इसे भी पढ़ें: क्या मोदी मंत्रिमंडल में फिर से शामिल नहीं होगी जदयू ? चार मंत्री पद मांग रहे नीतीश

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कौशल की शिकायत पर पुलिस ने मोहम्मद शाहिद और उसके साथी जुल्फिकार सिद्दीकी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इधर युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव मोहम्मद शाहिद ने आरोपों को निराधार बताया है। शाहिद का कहना है कि वर्ष 2016 में राज्य में कांग्रेस की सरकार नहीं थी इसलिए नौकरी के नाम पर पैसे लेने का प्रश्न ही नहीं उठता है। उन्होंने दावा किया कि राजनैतिक षड़यंत्र के तहत उन्हें फंसाया जा रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।