मध्य प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष होंगे गिरीश गौतम, बजट सत्र से पहले किया नामांकन दाखिल

Girish Gautam to be Speaker of Madhya Pradesh Legislative Assembly
दिनेश शुक्ल । Feb 21, 2021 9:38PM
कमलनाथ ने कहा कि हमने निर्णय लिया है कि हम विधानसभा अध्यक्ष पद की संवैधानिक गरिमा को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष पद के निर्वाचन में पूर्ण सहयोग करते हुए निर्विरोध ढंग से विधानसभा अध्यक्ष पद का निर्वाचन करवाने में अपनी ओर से पूर्ण सहयोग प्रदान करेंगे।
भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र सोमवार, 22 फरवरी से शुरू हो रहा है। इससे पहले भाजपा विधायक दल ने विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए रीवा जिले की देवतालाब विधानसभा से विधायक गिरीश गौतम के नाम पर मुहर लगा दी है। इसके साथ ही उन्होंने रविवार को विधानसभा पहुंचकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन भी दाखिल कर दिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमने मिलकर तय किया है कि हमारे वरिष्ठ विधायक, संसदीय ज्ञान के जानकार गिरीश गौतम जी के हाथों में विधानसभा के संचालन का दायित्व होगा। वे मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष होंगे। नामांकन आज हमने दाखिल किया है। वे विधानसभा अध्यक्ष पद की गरिमा को और आगे बढ़ाएंगे।

 

इसे भी पढ़ें: शादी का झांसा देकर युवती से दुष्कर्म, पुलिस ने किया आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज

दरअसल, मध्य प्रदेश में पिछले साल मार्च 2020 में  कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार गिर जाने के बाद सत्ता परिवर्तन हो गया था। जिसके बाद शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में एक बार फिर भाजपा की सरकार बनी थी। सत्ता परिवर्तन के बाद विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने इस्तीफा दे दिया था। तब भाजपा की ओर से भोपाल की हुजूर विधानसभा सीट से विधायक रामेश्वर शर्मा को विधानसभा संचालन के लिए सामयिक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पेकर) नियुक्त किया गया था। तभी से विधानसभा प्रोटेम स्पीकर के सहारे चल रही है, लेकिन बजट सत्र शुरू होने के एक दिन पहले विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए भाजपा विधायक गिरीश गौतम का नाम तय हो गया। वही मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने कहा कि हमने हमेशा से ही संसदीय परंपराओं का निर्वहन किया है जबकि भाजपा का शुरू से ही कभी संसदीय परंपराओं पर विश्वास नहीं रहा। कमलनाथ ने कहा कि हमने निर्णय लिया है कि हम विधानसभा अध्यक्ष पद की संवैधानिक गरिमा को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष पद के निर्वाचन में पूर्ण सहयोग करते हुए निर्विरोध ढंग से विधानसभा अध्यक्ष पद का निर्वाचन करवाने में अपनी ओर से पूर्ण सहयोग प्रदान करेंगे।

 

इसे भी पढ़ें: नीति आयोग के छह सूत्री एजेंडा को जमीन पर उतारेगा मध्य प्रदेश : मुख्यमंत्री चौहान

जिसके बाद गिरीश गौतम ने रविवार सुबह 11.00 बजे विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह को यह नामांकन सौंपा गया। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया सहित अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। बता दें कि गिरीश गौतम देवतालाब विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक हैं। वे वर्ष 2003 में तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी को चुनाव हराकर विधानसभा सदस्य बने थे। वही विंध्य क्षेत्र से आने वाले गिरीश गौतम को विधानसभा अध्यक्ष बनाने के पीछे भाजपा में अंदरूनी खींचतान पर विराम लगाने को लेकर देखा जा रहा है। प्रदेश में सरकार बनने के बाद ऐसा माना जा रहा था कि विंध्य क्षेत्र की अनदेखी की जा रही है।  

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़