राफेल सौदे के उजागर तथ्यों का संज्ञान लिए बिना कैग रिपोर्ट का कोई मतलब नहीं होगा: कांग्रेस

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 11 2019 8:43PM
राफेल सौदे के उजागर तथ्यों का संज्ञान लिए बिना कैग रिपोर्ट का कोई मतलब नहीं होगा: कांग्रेस
Image Source: Google

कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने अंग्रेजी अखबार ''द हिंदू'' की खबर का हवाला देते हुए संवाददाताओं से कहा कि इस मामले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच बहुत आवश्यक है और अगर इन सारे तथ्यों को संज्ञान में नहीं लिया जाता है

नयी दिल्ली। राफेल विमान सौदे में भ्रष्टाचार विरोधी प्रावधानों को हटाने का दावा करने वाली खबर की पृष्ठभूमि में कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि अगर नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) पिछले कुछ महीनों में उजागर हुए तथ्यों का संज्ञान नहीं लेता तो उसकी रिपोर्ट का कोई मतलब नहीं रह जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: राफेल मुद्दे पर मायावती ने केंद्र को घेरा, कहा- चौकीदार घूम-घूमकर दें रहे सफाई

पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने अंग्रेजी अखबार 'द हिंदू' की खबर का हवाला देते हुए संवाददाताओं से कहा कि इस मामले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच बहुत आवश्यक है और अगर इन सारे तथ्यों को संज्ञान में नहीं लिया जाता है ,जो अखबार के माध्यम से पिछले 6-8 महीनों में सार्वजनिक हुए हैं, तो उस रिपोर्ट का बिल्कुल कोई महत्व नहीं होगा' उन्होंने सरकार पर उच्चतम न्यायालय को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए यह भी कहा कि आगे शीर्ष अदालत को सामने आए तथ्यों पर विचार करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: राहुल को राफेल पर मोदी की बात झूठ लगती है और अखबारों की खबरें सच लगती हैं



गौरतलब है कि मीडिया रिपोर्टो में कहा गया है कि फ्रांस के साथ हुए इस सौदे के समझौते पर दस्तख्त करने से चंद दिन पहले ही सरकार ने इसमें भ्रष्टाचार के खिलाफ अर्थदंड से जुड़े अहम प्रावधानों को हटा दिया था। कांग्रेस राफेल विमान सौदे में भ्रष्टाचार का आरोप लंबे समय से लगा रही है, हालांकि सरकार ने इसे सिरे से खारिज किया है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video