स्वास्थ्य मंत्री बोले, लॉकडाउन का पालन जरूरी, कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति में हो रहा सुधार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 27, 2020   08:09
स्वास्थ्य मंत्री बोले, लॉकडाउन का पालन जरूरी, कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति में हो रहा सुधार

देश में पिछले तीन दिनों में मामले दोगुना होने की दर 10.5 दिन है। पिछले सात दिन में यह दर 9.3 दिन है और पिछले 14 दिन के लिए यह दर 8.1 दिन है। इससे पता चलता है कि देश में लॉकडाउन और क्लस्टर प्रबंधन तथा कंटेनमेंट स्ट्रैटेजी के कारण सकारात्मक परिणाम मिले हैं। ’’

नयी दिल्ली। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति में सुधार हो रहा है और इसके परिणामस्वरूप ही देश में संक्रमण से प्रभावित हॉटस्पॉट जिलों के रूप में चिन्हित किये गये क्षेत्र अब सामान्य स्थिति की ओर अग्रसर हैं। देश में कोविड-19 के फैलने की स्थिति के बारे में केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि इस समय भारत में कोविड-19 के रोगियों की मृत्युदर 3.1 है जबकि वैश्विक स्तर पर यह दर सात प्रतिशत है। 5913 लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से दी जा चुकी है। स्वस्थ होने की दर लगभग 22 प्रतिशत है जो अधिकतर देशों के मुकाबले बेहतर है। उन्होंने कहा ‘‘देश में पिछले तीन दिनों में मामले दोगुना होने की दर 10.5 दिन है। पिछले सात दिन में यह दर 9.3 दिन है और पिछले 14 दिन के लिए यह दर 8.1 दिन है। इससे पता चलता है कि देश में लॉकडाउन और क्लस्टर प्रबंधन तथा कंटेनमेंट स्ट्रैटेजी के कारण सकारात्मक परिणाम मिले हैं। ’’ 

इसे भी पढ़ें: देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 26,917 हुई, अब तक 826 की मौत

मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्ली स्थित एम्स में कोविड-19 अस्पताल के रूप में तब्दील किये गये ट्रॉमा सेंटर का दौरा कर यहां भर्ती कोरोना वायरस के गंभीर मरीजों के इलाज की सुविधाओं का जायजा लेने के बाद यह बात कही। उल्लेखनीय है कि सरकार ने 15 अप्रैल को संक्रमण के प्रभाव वाले देश के 170 जिलों को हॉटस्पॉट क्षेत्र और संक्रमण से अप्रभावित 207 जिलों को नॉन हॉटस्पॉट क्षेत्र के रूप में चिन्हित किया है। स्वास्थ्य मंत्री ने इस दौरान ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कोरोना वायरस के कुछ मरीजों से वीडियो कॉल के माध्यम से बात कर उनका हालचाल जाना। एम्स के कोविड-19 अस्पताल में मरीजों की देखभाल के लिये रोबोट सेवा भी हाल ही में शुरु की गयी है। डॉ. हर्षवर्धन ने रोबोट के माध्यम से ही वीडियो कॉल पर मरीजों से बात की। उन्होंने मरीजों से एम्स में इलाज की सुविधाओं का फीडबैक भी लिया जिससे इनमें जरूरत के मुताबिक और अधिक सुधार किया जा सके। 

इसे भी पढ़ें: स्वास्थ्य मंत्री बोले, कोविड-19 से मृत्यु दर 3 % और ठीक होने वालों की दर 20 फीसदी से ज्यादा

स्वास्थ्य मंत्री ने देशवासियों से लॉकडाउन का पालन करने की अपील करते हुये कहा कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से प्रभावित हॉटस्पॉट क्षेत्र अब संक्रमण मुक्त घोषित किये जा रहे हैं। इससे स्पष्ट है कि देश में संक्रमण की स्थिति में सुधार हो रहा है। मंत्रालय के अनुसार, कैबिनेट सचिव ने भी कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति की समीक्षा के लिये रविवार को सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और पुलिस महानिदेशकों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक की। इसमें उन्होंने सभी राज्य सरकारों को संक्रमण रोधी उपायों का पालन सुनिश्चित करने और कोविड-19 अस्पतालों में चिकित्सा सुविधाओं एवं संसाधनों की उपलब्धता को बरकरार रखने को कहा।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में गुरूवार को 1687 कोरोना संक्रमितों की पहचान, इंदौर में टेस्टिंग किट का अभाव

स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से मृतकों की संख्या 826 तक पहुंचने की जानकारी देते हुये बताया कि इसके संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 26,917 हो गयी है। इसके अनुसार, संक्रमित मरीजों में इलाज के बाद स्वस्थ हुए 5913 लोगों कोअस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है। इसके साथ ही संक्रमण से ठीक हुये मरीजों का प्रतिशत भी बढ़कर 21.90 हो गया है। मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रण में करने के लिये देशव्यापी स्तर पर किये जा रहे उपायों की मंत्रालय द्वारा राज्य सरकारों के साथ मिलकर शीर्ष स्तर पर निरंतर समीक्षा एवं निगरानी की जा रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...