पीसीसी के अध्यक्ष पद से हटने की पेशकश कर चुका हूं, राहुल इस संदर्भ में करेंगे फैसला: बघेल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 23 2019 1:11PM
पीसीसी के अध्यक्ष पद से हटने की पेशकश कर चुका हूं, राहुल इस संदर्भ में  करेंगे फैसला: बघेल
Image Source: Google

कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात करने वाले बघेल ने प्रदेश कांग्रेस समिति में बदलाव के सवाल पर कहा, मैं यह कह चुका हूँ कि पीसीसी प्रमुख किसी दूसरे बनाया जाए। राष्ट्रीय अध्यक्ष कभी भी फैसला करेंगे।

नयी दिल्ली। लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद से कांग्रेस में हर स्तर पर बदलाव को लेकर चल रहे रहे कयासों के बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि वह प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के अध्यक्ष पद से हटने की अपनी इच्छा से पार्टी आलाकमान को अवगत करा चुके हैं और राहुल गांधी इस संदर्भ में फैसला करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें उम्मीद है कि गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बने रहेंगे क्योंकि उनके नेतृत्व में पार्टी फिर खड़ी हो सकती है और 2024 में सरकार भी बना सकती है।

इसे भी पढ़ें: एक देश एक चुनाव का प्रस्ताव अहम मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाएगा: बघेल

गत बृहस्पतिवार को कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात करने वाले बघेल ने प्रदेश कांग्रेस समिति में बदलाव के सवाल पर कहा, मैं यह कह चुका हूँ कि पीसीसी प्रमुख किसी दूसरे बनाया जाए। राष्ट्रीय अध्यक्ष कभी भी फैसला करेंगे।  चुनावी हार की जवाबदेही के सवाल पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा,   हम सबकी सामूहिक जिम्मेदारी है। कांग्रेस अध्यक्ष ने पूरी मेहनत की। राज्यों में जिनके पास जिम्मेदारी थी, उन्होंने भी मेहनत की। इसके बावजूद नतीजा सही नहीं आया। अब आलाकमान और पार्टी जो भी फैसला करेगी, वह हम सब मानेंगे। 
गौरतलब है कि पिछले साल के आखिर में हुए छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल करने वाली कांग्रेस लोकसभा चुनाव में राज्य की 11 सीटों में से सिर्फ दो सीटें ही हासिल कर पाई। राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश के बाद से चल रही असमंजस की स्थिति पर बघेल ने कहा,  हम सबकी यही इच्छा है कि वह अध्यक्ष बने रहें। हमें नहीं लगता कि उनकी मेहनत में कोई कमी रही। कार्यकर्ताओं में उनके प्रति अटूट विश्वास है। उनके नेतृत्व को लेकर कोई संदेह नहीं है। 
उन्होंने उम्मीद जताई,   राहुल जी के नेतृत्व में पार्टी फिर खड़ी होगी और 2024 में पार्टी वापसी करेगी। बघेल ने लोकसभा चुनाव के नतीजों खासकर छत्तीसगढ़ के परिणाम को लेकर आश्चर्य जताते हुए ईवीएम को लेकर सन्देह खड़ा किया। उन्होंने कहा, लोग ईवीएम को लेकर सवाल उठा रहे हैं। जहां सीधी लड़ाई में क्षेत्रीय दल थे वहां भाजपा का जादू क्यों नहीं चला? केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और कई राज्यों में क्या हुआ। जहां भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी लड़ाई थी वहीं पर अप्रत्याशित नतीजे क्यों आए? ईवीएम पर निश्चित तौर पर सन्देह है।  
हाल ही में नीति आयोग की बैठक के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने वाले बघेल ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार को किसान सम्मान निधि योजना के तहत छत्तीसगढ़ के आदिवासी इलाकों में किसानों को 12 हजार रुपये देने चाहिए। बिहार में दिमागी बुखार से बच्चों की मौत की पृष्ठभूमि में एक सवाल के जवाब में बघेल ने आयुष्मान भारत योजना की सफलता पर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा,  योजनाओं को ऐसे नाम देना अलग बात है। इससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में समुचित लाभ नहीं हो रहा है। इसका दायरा भी बढाना चाहिए और सुविधाएं भी बढ़ानी चाहिए। 
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video