केजरीवाल ने दिल्ली में अच्छा काम किया होता तो गठबंधन के इच्छुक न होते : हरदीप

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 13 2019 6:30PM
केजरीवाल ने दिल्ली में अच्छा काम किया होता तो गठबंधन के इच्छुक न होते : हरदीप
Image Source: Google

हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि दिल्ली की तमाम परियोजनायें सालों से सिर्फ इसलिये लंबित हैं क्योंकि दिल्ली सरकार अपने हिस्से की दस प्रतिशत राशि नहीं दे रही है।

नयी दिल्ली। केन्द्रीय आवास एवं शहरी विकास राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जाति और आरोप प्रत्यारोप की राजनीति करने का आरोप लगाते हुये कहा कि जनता के काम नहीं करने के कारण ही उन्हें कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के लिये गुहार लगानी पड़ रही है। पुरी ने कहा कि दिल्ली में स्वच्छता, स्वास्थ्य और परिवहन सहित किसी भी मामले में केजरीवाल सरकार ने कोई काम नहीं किया, सिर्फ केन्द्र सरकार या नगर निगम पर काम नहीं करने देने के आरोप लगाये हैं। उन्होंने कहा, ‘‘केजरीवाल ने अगर दिल्ली में दिल लगा कर काम किया होता तो मैं समझता हूं कि वह कांग्रेस से गठबंधन करने के लिये इतने इच्छुक नहीं होते।‘‘ 

इसे भी पढ़ें: अल्का लांबा ने लोगों से पूछा, क्या उन्हें AAP से इस्तीफा देना चाहिये?

उन्होंने कहा कि दिल्ली की तमाम परियोजनायें सालों से सिर्फ इसलिये लंबित हैं क्योंकि दिल्ली सरकार अपने हिस्से की दस प्रतिशत राशि नहीं दे रही है। पुरी ने कहा, ‘‘इनके (केजरीवाल सरकार) बारे में अपने अनुभव के आधार पर मैं कह सकता हूं कि विकासकार्यों में इनकी कतई रुचि नहीं है। इनका मूल मकसद वोटबैंक की राजनीति करना मात्र है।’’पुरी ने दावा किया कि आईटीओ स्काईवॉक और महिपालपुर फ्लाईओवर जैसी तमाम परियोजनायें उनके मंत्रालय ने डीडीए सहित अन्य एजेंसियों से दिल्ली सरकार के हिस्से की राशि का भुगतान करवाकर रिकॉर्ड समय में पूरी की हैं।

इसे भी पढ़ें: भाजपा और कांग्रेस जैसी झूठी पार्टियों को वोट न दें: अरविंद केजरीवाल

आप कांग्रेस गठबंधन के बारे में केन्द्रीय मंत्री पुरी ने कहा कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने काम किया नहीं, पंजाब में आप बिल्कुल खत्म हो गयी है, वहां इनके सांसद विधायक आप को छोड़ गये हैं, इसलिये केजरीवाल, कांग्रेस से गठबंधन के पीछे पड़े हुये हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आप की पैदाइश कांग्रेस के खिलाफ अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन से हुयी थी। ऐसे में सवाल ये उठता है कि पांच साल में या तो कांग्रेस ईमानदार हो गयी या आप भ्रष्ट हो गयी। इस मूल प्रश्न के साथ ही जनता में यह स्पष्ट धारणा बनी है कि आप पूरी तरह से भ्रष्ट है।’’



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video