आईएमडी ने आठ जिलों में बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया, 14 प्रमुख बांधों से पानी छोड़ा गया

water
ANI
मौसम विभाग ने रविवार को मध्यप्रदेश के 52 जिलों में से आठ जिलों में मूसलाधार बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है, जबकि 16 जिलों में यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने इसकी जानकारी दी।

भोपाल। मौसम विभाग ने रविवार को मध्यप्रदेश के 52 जिलों में से आठ जिलों में मूसलाधार बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है, जबकि 16 जिलों में यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने इसकी जानकारी दी। पिछले 24 घंटों में प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में बारिश दर्ज की गई, जिससे नर्मदा, पार्वती बेतवा एवं अन्य नदियों पर बनाये गये 52 प्रमुख बांधों में से 14 बांधों के कुछ गेट खोल कर पानी छोड़ा जा रहा है और नदी के आसपास रहने वाले लोगों को सुरक्षा हेतु सतर्क कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा के CMs से भी समर्थन मांगेंगी मार्गरेट अल्वा, बोलीं- मैं राज्यसभा के कामकाज में ला सकती हूं बदलाव

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार मध्य प्रदेश के आठ जिलों भोपाल, सीहोर, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, गुना, आगर मालवा एवं शाजापुर जिलों में अगले 24 घंटों में (रविवार सुबह साढ़े आठ बजे से सोमवार सुबह साढ़े आठ बजे तक) कहीं-कहीं पर भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना है। आईएमडी ने इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसमें कहा गया है कि इस दौरान इन आठ जिलों में 115.6 मिलीमीटर या उससे अधिक बारिश हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: गुलाब की पंखुड़ियों से ढकी नजर आईं Uorfi Javed, वीडियो देखकर लोगों ने पूछा- हवा का झौका आया तो क्या होगा?

इसके अलावा, मौसम विभाग ने प्रदेश के 16 जिलों बैतूल, नर्मदापुरम, हरदा, उमरिया, शहडोल, अनूपपुर, शिवपुरी, श्योपुर, नीमच, मंदसौर, खंडवा, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट एवं नरसिंहपुर जिलों में इस दौरान कहीं-कहीं पर अधिक से बहुत अधिक वर्षा की संभावना जताते हुए यलो अलर्ट जारी किया है। इसमें कहा गया है कि इस दौरान इन 16 जिलों में 64.5 मिलीमीटर से 204.4 मिलीमीटर तक वर्षा होने का अनुमान है। मौसम विभाग ने इस दौरान प्रदेश के रीवा, सागर, जबलपुर, भोपाल, नर्मदापुरम, चंबल एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में कहीं-कहीं पर गरज के साथ बिजली चमकने एवं वरसात होने की भी संभावना का यलो अलर्ट भी जारी किया है। इसमें कहा गया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के इंदौर, शहडोल, जबलपुर, सागर, नर्मदापुरम, भोपाल, उज्जैन, चंबल एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में अधिकांश स्थानों पर तथा रीवा संभाग के जिलों में अनेक स्थानों पर वर्षा दर्ज की गई। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे से रविवार सुबह 8:30 बजे तक पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के रेहटी में सर्वाधिक 27 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई, जबकि भीमपुर में 19 सेंटीमीटर, हरदा में 15 सेंटीमीटर, चिंचोली, सिवनीमालवा, खातेगांव एवं डोलरिया में 14-14 सेंटीमीटर, सतवास एवं खिरकिया में 13-13 सेंटीमीटर, श्यामपुर, बुधनी एवं कन्नौद में 11-11 सेंटीमीटर, नसरूल्लागंज में 10 सेंटीमीटर और इटारसी में नौ सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई।

इसी बीच, मध्यप्रदेश जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता कमलेश रैकवार ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि प्रदेश की नर्मदा, पार्वती, बेतवा सहित अन्य नदियां ऊफान पर हैं, लेकिन सभी खतरे के निशान से नीचे बह रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 52 प्रमुख बांधों में से 14 बांधों के आज गेट खोले गये हैं और लबालब हुए इन बांधों से पानी की निकासी की जा रही है। जिन 14 बांधों के गेट खोले गये हैं उनमें ओमकारेश्वर बांध के 18 गेट, इंदिरा सागर बांध के 12, तवा बांध के नौ और राजघाट बांध के आठ गेट शामिल हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़