उत्तर भारत के कई शहरों में हई रातभर हुई बारिश, तेज हवाओं से दिल्ली में पारा गिरा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 31, 2020   10:01
उत्तर भारत के कई शहरों में हई रातभर हुई बारिश, तेज हवाओं से दिल्ली में पारा गिरा

मौसम विभाग ने बताया कि जून के पहले सप्ताह में उत्तरपश्चिम भारत में एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ की संभावना है इसलिए दिल्ली-एनसीआर में आठ जून से पहले लू चलने की संभावना नहीं है।

नयी दिल्ली। रविवार को राष्ट्रीय राजधानी में रातभर 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने के साथ बारिश ने पारा गिरा दिया जिससे मौसम सुहावना हो गया। सफदरजंग वेधशाला ने 9.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की। शनिवार को यहां अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री नीचे दर्ज किया गया था। पालम वेधशाला ने रातभर 5 मिमी. बारिश दर्ज की। मौसम वैज्ञानिकों ने रविवार को दिल्ली-एनसीआर में 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने के साथ हल्की बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान जताया है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 35 डिग्री और 22 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है।

इसे भी पढ़ें: मनरेगा में आठ लाख से अधिक प्रवासी श्रमिकों को मिला रोजगार: सचिन पायलट

मौसम विभाग ने बताया कि जून के पहले सप्ताह में उत्तरपश्चिम भारत में एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ की संभावना है इसलिए दिल्ली-एनसीआर में आठ जून से पहले लू चलने की संभावना नहीं है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि मौजूदा पश्चिमी विक्षोभ और पूर्वी हवाओं का असर रविवार शाम तक कम हो जाएगा। उन्होंने बताया कि दिल्ली-एनसीआर में अधिकतम तापमान एक जून से तीन जून तक दो से चार डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने का अनुमान है। उन्होंने कहा, ‘‘पारा ज्यादातर स्थानों पर 40 डिग्री सेल्सियस से कम रहेगा और अब लू नहीं चलेगी।’’

इसे भी पढ़ें: आज करें भ्रामरी प्राणायाम, बच्चों के लिए बनाएं वाटरमेलन आईसक्रीम और आसान तरीके से सजाएं घर

श्रीवास्तव ने बताया कि अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बनने के साथ ही नए सिरे से बने पश्चिमी विक्षोभ और दक्षिणपश्चिमी हवाओं से दिल्ली-एनसीआर में आर्द्रता आएगी। इससे दिल्ली-एनसीआर में तीन से पांच जून के बीच गरज के साथ छींटे और हल्की बारिश का अनुमान है। उन्होंने बताया, ‘‘उत्तर पश्चिम भारत में आठ जून तक लू चलने की संभावना नहीं है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...