IN-SPACe भारतीयों को अपना टैलेंट दिखाने का देगा मौका, PM मोदी ने किया मुख्यालय का निरीक्षण

Narendra Modi
प्रतिरूप फोटो
Twitter
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र भारत के युवाओं को, भारत के बेहतरीन दिमागों को अपना टेलेंट दिखाने का मौका देगा। चाहे वो सरकार में काम कर रहे हों या प्राइवेट सेक्टर में, भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र सभी के लिए बेहतरीन अवसर बनाएगा।

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अहमदाबाद में भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र (IN-SPACe) के मुख्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज 21वीं सदी के आधुनिक भारत की विकास यात्रा में एक शानदार अध्याय जुड़ा है। भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र (IN-SPACe) के हेडक्वार्टर के लिए सभी देशवासियों को और वैज्ञानिक समुदाय को बहुत-बहुत बधाई। 

इसे भी पढ़ें: पहले दवा बनने में दशकों लगता थे, लेकिन मोदी सरकार ने साल भर में टीका बना लिया : नड्डा 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र भारत के युवाओं को, भारत के बेहतरीन दिमागों को अपना टेलेंट दिखाने का मौका देगा। चाहे वो सरकार में काम कर रहे हों या प्राइवेट सेक्टर में, भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र सभी के लिए बेहतरीन अवसर बनाएगा।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार भारत के युवाओं के सामने से हर अवरोध हटा रही है, लगातार रिफॉर्म कर रही है। डिफेंस सेक्टर को प्राइवेट इंडस्ट्री के लिए खोल देना, आधुनिक ड्रोन पॉलिसी बनाना, जियो स्पेशल डेटा गाइडलाइन बनानी हो, सरकार हर दिशा में काम कर रही है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी कोशिश है कि हम भारत के प्राइवेट सेक्टर के लिए ज्यादा से ज्यादा ईज ऑफ डूइंग बिजनेस का माहौल बनाएं, ताकि देश का प्राइवेट सेक्टर, देशवासियों की ईज ऑफ लिविंग में उतनी ही मदद करें। 

इसे भी पढ़ें: हमारी सरकार ने गत आठ साल में स्वास्थ्य क्षेत्र के सर्वांगीण विकास का प्रयास किया : PM मोदी 

उन्होंने कहा कि मुझे गर्व है कि हमारे प्राइवेट इंडस्ट्री के साथियों ने लॉन्च व्हीकल, सैटेलाइट, ग्राउंड सेंगमेंट और स्पेस एप्लीकेशन के क्षेत्रों में तेजी से काम शुरू कर दिया है। पीएसएलवी रॉकेट के निर्माण के लिए भी भारत के प्राइवेट प्लेयर्स आगे आए हैं। इतना ही नहीं कईं प्राइवेट कंपनियों ने तो अपने खुद के रॉकेट की डिजाइन भी तैयार कर ली है। ये भारत के स्पेस सेक्टर की असीमित संभावनाओं की एक झलक है। इसके लिए मैं अपने वैज्ञानिकों, उद्यमियों, युवा उद्यमियों और सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई देता हूं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़