ISIS संगठन को लेकर भारत चिंतित, खुफिया एजेंसी सतर्क

ISIS संगठन को लेकर भारत चिंतित, खुफिया एजेंसी सतर्क
प्रतिरूप फोटो

अफगानिस्तान में तालिबान का शासन आने के बाद आतंकी संगठनों को एक नई ताकत मिली है ।अब काबुल हमले में शामिल आतंकी संगठन आईएसआईएस -के (खुरासान ग्रुप )को लेकर भारतीय खुफिया एजेंसियां भी सतर्क हो गई हैं।

अफगानिस्तान में तालिबान का शासन आने के बाद आतंकी संगठनों को एक नई ताकत मिली है ।अब काबुल हमले में शामिल आतंकी संगठन आईएसआईएस -के (खुरासान ग्रुप )को लेकर भारतीय खुफिया एजेंसियां भी सतर्क हो गई हैं।

 

भारतीय खुफिया अधिकारियों को आशंका है कि यह ग्रुप जिहादी मानसिकता का विस्तार करना चाहता है ,जिसके तहत यह भारत तक पहुंचने की कोशिश करेगा। इसकी मंशा युवाओं को अपने संगठन से जोड़ने और आतंकी हमले कराने की रहती है ।भारत इसलिए भी सतर्क है क्योंकि केरल और मुंबई के कुछ युवा पहले भी इस ISIS संगठन में शामिल हो चुके हैं।

 

खुफिया अधिकारियों का कहना है कि अगर यह ग्रुप साजिश रचता है तो भारत के कुछ कट्टरपंथी या आतंकी संगठन फिर से सिर उठा सकते हैं । इसके साथ ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आज के समय में अनिश्चितता और उथल-पुथल को देखते हुए भारत को किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार होगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।