मध्य प्रदेश में केन्द्रीय टिड्डी नियंत्रण दल के समन्वय से चलाया सघन अभियान, बचाव के लिये सभी जिले हाई अलर्ट पर

मध्य प्रदेश में केन्द्रीय टिड्डी नियंत्रण दल के समन्वय से चलाया सघन अभियान, बचाव के लिये सभी जिले हाई अलर्ट पर

गुरूवार 28 मई को एक टिड्डी दल के बालाघाट जिले में चलायमान होने की सूचना है। जो टिड्डी दल उत्तरप्रदेश की सीमा में रात्रि में रूका उसके मध्य प्रदेश के सीमावर्ती जिलों दतिया, निवाड़ी एवं टीकमगढ़ जिलो में चलायमान हैं। पन्ना एवं कटनी दोनों जिलों को एलर्ट जारी किया गया है। एक टिड्डी दल दोनों जिलों की सीमाओं मे गतिमान पाया गया है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में टिड्डी दलों की निगरानी एवं नियंत्रण के लिए केन्द्रीय टिड्डी नियंत्रण दल के समन्वय से सघन अभियान चलाया जा रहा है। बुधवार 27 मई को रीवा जिले के ग्राम हरदी एवं पंडोखर में 5 फायर ब्रिगेड द्वारा लगभग 100 लीटर कीटनाशकों का छिड़काव किया गया। यह टिड्डी दल लगभग 5 से 6 कि.मी. लंबा था। प्रात: इस दल के सतना जिले की ओर गतिमान होने की सूचना थी। संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि मुरैना जिले के कैलारस विकासखंड के नेफरी ग्राम में भी टिड्डी दल का रात्रि ठहराव हुआ, जिसके नियंत्रण के लिए 5 ट्रेक्टरचलित स्प्रेपंप एवं 2 फायर ब्रिगेड द्वारा कीटनाशकों का छिड़काव किया गया एवं लगभग 35 प्रतिशत नियंत्रण में सफलता प्राप्त हुई।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश इलाज की सर्वोत्‍तम व्यवस्था सुनिश्चित कर मृत्यु दर कम करें

नर्मदापुरम संभाग के बैतूल जिले के विकासखंड प्रभातपट्नम के ग्राम पुसली में एक टिड्डी दल पर कीटनाशकों का छिड़काव किया गया। इस कार्यवाही से लगभग 40 प्रतिशत टिड्डी दल को नष्ट करने में सफलता प्राप्त हुई। गुरूवार 28 मई को एक टिड्डी दल के बालाघाट जिले में चलायमान होने की सूचना है। जो टिड्डी दल उत्तरप्रदेश की सीमा में रात्रि में रूका उसके मध्य प्रदेश के सीमावर्ती जिलों दतिया, निवाड़ी एवं टीकमगढ़ जिलो में चलायमान हैं। पन्ना एवं कटनी दोनों जिलों को एलर्ट जारी किया गया है। एक टिड्डी दल दोनों जिलों की सीमाओं मे गतिमान पाया गया है। समस्त जिलों को सतत निगरानी करने के लिए तथा टिड्डी दल के रात्रि ठहराव की स्थिति स्पष्ट होते ही जिला प्रशासन एवं केन्द्रीय टिड्डी नियंत्रण दल से समन्वय स्थापित कर प्रभावी नियंत्रण की कार्यवाही करने के लिये निर्देशित किया गया है।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में विभिन्न राज्यों से श्रमिकों को लेकर 132 ट्रेन पहुँचीं, अभी भी प्रवासियों के लौटने का सिलसिला जारी

वही प्रदेश के किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि टिड्डी दल की निगरानी एवं रोकथाम के लिये समस्त जिले हाई अलर्ट पर हैं। उन्होंने बताया कि टिड्डी दल के प्रकोप को रोकने के लिये कीटनाशकों, कीटनाशक छिड़काव यंत्रों और फायर ब्रिगेड की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये समस्त जिलों को निर्देशित कर दिया गया है। मंत्री पटेल ने बताया कि टिड्डी दल के रात्रि ठहराव स्थलों पर प्रात: 4 बजे से ही कीटनाशकों के छिड़काव के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि कृषि विभाग द्वारा निरंतर टिड्डी दल पर निगरानी रखी जाकर बचाव एवं रोकथाम की प्रभावी कार्यवाही की जा रही है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...