ITBP ने दिल्ली में 10,000 से अधिक बेड वाले कोविड-19 सेंटर का संभाला जिम्मा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 24, 2020   15:09
ITBP ने दिल्ली में 10,000 से अधिक बेड वाले कोविड-19 सेंटर का संभाला जिम्मा

आईटीबीपी के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘बल ने नयी दिल्ली के छतरपुर स्थित राधा स्वामी ब्यास में कोविड-19 देखभाल केंद्र का जिम्मा बुधवार को संभाल लिया।’’

नयी दिल्ली। भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने दिल्ली में 10,000 से अधिक बिस्तरों की क्षमता वाले कोविड-19 केंद्र की देखरेख का जिम्मा बुधवार को संभाल लिया। आईटीबीपी के अधिकारियों के एक दल ने राधा स्वामी ब्यास केंद्र का दौरा किया और दिल्ली सरकार तथा अन्य पक्षकारों के साथ चर्चा की जो इस केंद्र को चलाने में साझेदार होंगे। गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा था कि इस केंद्र का जिम्मा आईटीबीपी को सौंपा गया है। आईटीबीपी के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘बल ने नयी दिल्ली के छतरपुर स्थित राधा स्वामी ब्यास में कोविड-19 देखभाल केंद्र का जिम्मा बुधवार को संभाल लिया।’’ 

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल के दावे पर बोले अमित शाह, 10 हजार बिस्तरों वाले कोविड सेंटर पर तीन दिन पहले लिया गया निर्णय 

उन्होंने बताया, ‘‘गृह मंत्रालय ने दिल्ली सरकार के अनुरोध पर इस केंद्र को डॉक्टरों तथा अन्य पेशेवरों की टीम मुहैया कराने वाली नोडल एजेंसी के तौर पर आईटीबीपी को नामित किया था।’’ एक अन्य अधिकारी ने बताया कि केंद्र में 26 जून से 2,000 बिस्तरों की सुविधा शुरू होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि बिस्तरों की कुल क्षमता 10,200 तक हो सकती है। यह देश के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में सबसे बड़ा कोविड-19 देखभाल केंद्र होगा। 

इसे भी पढ़ें: सिसोदिया ने अमित शाह को लिखा पत्र, नए नियम को वापस लेने की अपील की 

अधिकारी ने बताया कि आईटीबीपी और अन्य केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के 1,000 से अधिक डॉक्टरों और 2,000 पराचिकित्सकों और सुरक्षा कर्मियों को इस केंद्र में तैनात करने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि दक्षिण दिल्ली जिला प्रशासन इस केंद्र को प्रशासनिक सहयोग मुहैया कराएगा। आईटीबीपी देश में पहला संगठन है जिसने कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के लिए 1,000 बिस्तरों वाला पृथक केंद्र बनाया। दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के छावला इलाके में स्थित केंद्र में करीब 1,200 लोगों का इलाज किया गया जिनमें से 42 विदेशी शामिल हैं जिन्हें चीन के वुहान तथा इटली से विशेष विमान के जरिए भारत लाया गया था। यह केंद्र अब भी चालू है और आईटीबीपी के उन जवानों की देखभाल कर रहा है जो देशव्यापी लॉकडाउन के बाद काम पर लौट रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।