जयललिता की करीबी शशिकला की हालत में सुधार, भतीजे ने बताया सेहत का हाल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2021   16:41
जयललिता की करीबी शशिकला की हालत में सुधार, भतीजे ने बताया सेहत का हाल

अन्नाद्रमुक से निष्कासित वी के शशिकला की स्वास्थ्य स्थिति सामान्य तथा स्थिर है लेकिन उनकी सीटी स्कैन तथा अन्य जांच की जाएंगी। बोरिंग अस्पताल के निदेशक डॉक्टर मनोज कुमार एच वी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

बेंगलुरु। अन्नाद्रमुक से निष्कासित वी के शशिकला की स्वास्थ्य स्थिति सामान्य तथा स्थिर है लेकिन उनकी सीटी स्कैन तथा अन्य जांच की जाएंगी। बोरिंग अस्पताल के निदेशक डॉक्टर मनोज कुमार एच वी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। डॉक्टर के अनुसार शशिकला की कोविड-19 जांच की गई जिसमें उनके कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं होने की पुष्टि हुई है। तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता की करीबी सहयोगी रहीं शशिकला यहां परप्पना अग्रहारा कारागार में सजा काट रही हैं।

इसे भी पढ़ें: केरल विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ सदन में अविश्वास प्रस्ताव पेश हुआ

अपनी रिहाई से एक सप्ताह पहले बुधवार को उन्होंने बुखार और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की, जिसके बाद उन्हें जेल से बोरिंग अस्पताल के नाम से चर्चित बोरिंग एंड लेडी कर्जन मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टिट्यूट ले जाया गया। बुधवार शाम जब उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया तो उनका ऑक्सीजन स्तर 80 था। ऑक्सीजन का स्तर 95 या उससे अधिक रहना सामान्य माना जाता है। कुमार ने पत्रकारों से कहा, उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। उसी के अनुसार हमने उनका इलाज किया। अब उनके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर 96 यानी सामान्य है।

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 इलाज दरों को क्लीनिक और नर्सिग होम में प्रदर्शित करने के र्निदेश

उनकी स्वास्थ्य स्थिति स्थिर है। डॉक्टर के अनुसार आज सुबह शशिकला ने चहलकदमी भी की। कुमार ने कहा कि उन्हें सीटी स्कैन के लिए विक्टोरिया अस्पताल भेजा गया है। जांच के बाद उन्हें वापस बोरिंग अस्पताल लाया जाएगा। इसके अलावा उनकी रैपिड एंटीजन तथा आरटी-पीसीआर जांच भी की गईं, जिनकी रिपोर्ट में उनके कोरोना वायरस से संक्रमित न होने की पुष्टि हुई। आय के ज्ञात स्रोत से 66 करोड़ रुपये ज्यादा की संपत्ति के मामले में फरवरी 2017 में चार साल कैद की सजा पाने वाली शशिकला को यहां पराप्पना अग्रहारा जेल में रखा गया है। उनकी बीमारी ऐसे समय सामने आई है जब एक हफ्ते बाद 27 जनवरी को वह जेल से रिहा की जाने वाली हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।