जीतू पटवारी का मुकेश अंबानी और गौतम अदाणी को खुला पत्र, कृषि कानून को लेकर लिखा पत्र

जीतू पटवारी का मुकेश अंबानी और गौतम अदाणी को खुला पत्र, कृषि कानून को लेकर लिखा पत्र

प्रिय मुकेश अम्बानी जी और गौतम अदाणी जी, आप दोनों ही देश के जिम्मेदार नागरिक माने जाते है और आप उदारता का परिचय देकर किसानों के हितों की ओर कदम उठाने के लिए मोदी सरकार को प्रेरित कर सकते है।

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष, पूर्व मंत्री और मीडिया प्रभारी जीतू पटवारी ने देश के अग्रणी उद्योगपतियों मुकेश अंबानी और गौतम अडानी के नाम खुला पत्र लिखा है। उन्होंने कृषि कानून और किसानों द्वारा किए जा रहे आंदोलन को लेकर दोनों उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए पत्र लिखा है। जीतू पटवारी ने ट्वीट कर पत्र को सर्वजनिक करते हुए लिखा है कि प्रिय महानुभाव, वर्तमान केन्द्र सरकार आपके हितों को प्राथमिकता देने के आवेश में देश के किसानों एवं आम जनता के हितों को नजरअंदाज कर रही है। आपसे अनुरोध है कि किसानों का साथ देकर देश के सजग और मूल्यवान नागरिक होने का कर्तव्य निभायें।

 इसे भी पढ़ें: डकैत हरिसिंह का गुर्गा हथियार सहित गिरफ्तार, चोरी,डकैती, मादक पदार्थ सहित तस्करी के है आरोप

जीतू पटवारी ने यह पत्र मुकेश अंबनी और गौतम अदाणी को मध्य प्रदेश के एक किसान के नाते पत्र लिखा है। उन्होंने पत्र में लिखा कि- प्रिय प्रिय मुकेश अम्बानी जी और गौतम अदाणी जी, नमस्कार। भारत के उद्योग जगत के आप दोनों बहुमूल्य रत्न है और समूचा देश आपकी नीतियों से प्रभावित होता है। हमारे देश के किसान अन्नदाता भी देश के बहुमूल्य रत्न है, लेकिन वे आप जैसे अरबपति या उद्योगपति नहीं है, लिहाजा वे सरकार की नीतियों के मोहताज होते है। इस समय कड़ी ठंड में हमारे लाखों किसान अपनी साधारण मांगों को लेकर कई दिनों से शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे है। किसानों को देश की आत्मा और जीवन रेखा माना जाता है। भाजपा की नरेंद्र मोदी सरकार के कृषि को लेकर बनाएं तीनों कानून औद्योगिक घरानों और पूंजीपतियों के मुफीद है और किसान इन्हें लेकर बड़े तनाव में है।

 इसे भी पढ़ें: नाबालिग लड़की का अपहरण कर दुष्कर्म करने वाला आरोपी युवक गिरफ्तार

जीतू पटवारी ने लिखा प्रिय मुकेश अम्बानी जी और गौतम अदाणी जी, आप दोनों ही देश के जिम्मेदार नागरिक माने जाते है और आप उदारता का परिचय देकर किसानों के हितों की ओर कदम उठाने के लिए मोदी सरकार को प्रेरित कर सकते है। हमें पूरा भरोसा है की आप यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को यह विश्वास दिलाएंगे की तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने से बड़े औद्योगिक समूहों को होने वाले नुकसान की भरपाई और कही से की जा सकती है, तो इस सरकार के द्वारा किसानों की मांगों को अवश्य मान लिया जायेगा। आप दोनों महानुभवों से विनम्र अनुरोध है की अन्नदाताओं के हितों में आगे आएं। करोड़ों किसान परिवारों की आपको दुआ मिलेगी और आपके इस कदम से नरेंद्र मोदी सरकार को अपने कदम पीछे खीचने को मजबूर होना पड़ेगा। मुझे पूरा विश्वास है की आप अन्नदाताओं के दर्द को समझते हुए सहानुभूतिपूर्वक मेरे आग्रह पर विचार करेंगे।

इसे भी पढ़ें: फेसबुक के जिद्दी ब्वॉय के खिलाफ दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज

कृषि कानून को वापस लेकर जहाँ एक ओर किसान आंदोनल कर रहे है, तो वही कांग्रेस सहित विपक्षी पार्टीयां किसानों के समर्थन में उपवास तो कभी भारत बंद का आवहन कर रहे है। पिछले दिनों अदाणी ग्रुप ने समाचार पत्रों में किसान कानून को लेकर विज्ञापन प्रकाशित करवाया था। वही मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने दोनों उद्योगपतियों मुकेश अंबानी और गौतम अदाणी को पत्र लिखकर मोदी सरकार से कानून वापस लेने का आग्रह किया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।