अवैध वसूली करने के आरोप में पत्रकार गिरफ्तार

Arrest
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons.
पुलिस के मुताबिक जायसवाल भारत सम्मान नाम से एक न्यूज पोर्टल चलाता है तथा कथित तौर पर पत्रकारिता की आड़ में अवैध वसूली करता है। सरगुजा क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक अजय यादव ने बताया कि जायसवाल के खिलाफ पिछले दो सप्ताह के दौरान सरगुजा और पड़ोसी बलरामपुर जिले में छह मामले दर्ज किए गए हैं।

अंबिकापुर| छत्तीसगढ़ के सरगुजा क्षेत्र में पुलिस ने सरगुजा और बलरामपुर जिलों में अवैध वसूली के आरोप में एक वेब पोर्टल के पत्रकार को गिरफ्तार किया है। पत्रकार के खिलाफ छह मामले दर्ज हैं। सरगुजा ​क्षेत्र के पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि सरगुजा और बलरामपुर जिले में अवैध वसूली के आरोप में पुलिस ने पत्रकार जितेंद्र जायसवाल को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के मुताबिक जायसवाल भारत सम्मान नाम से एक न्यूज पोर्टल चलाता है तथा कथित तौर पर पत्रकारिता की आड़ में अवैध वसूली करता है। सरगुजा क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक अजय यादव ने बताया कि जायसवाल के खिलाफ पिछले दो सप्ताह के दौरान सरगुजा और पड़ोसी बलरामपुर जिले में छह मामले दर्ज किए गए हैं।

यादव ने बताया कि जायसवाल को इस महीने की शुरुआत में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के अनुसार वह पड़ोसी सूरजपुर जिले की जेल में बंद है एवं उसके खिलाफ लगे सभी मामलों की जांच की जा रही है।

उन्होंने बताया कि एक कंपनी चलाने वाले अंबिकापुर निवासी जितेंद्र सोनी की शिकायत पर बलरामपुर जिले के निवासी जायसवाल के खिलाफ सरगुजा जिले के गांधीनगर थाने नेजबरन वसूली, डकैती, धमकी और अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया था। यादव ने बताया कि वहीं बलरामपुर जिले के निवासी प्रवीण अग्रवाल की शिकायत पर गांधीनगर थाने में एक अन्य मामला दर्ज किया गया है। अग्रवाल ने जायसवाल पर रंगदारी मांगने और मांग पूरी नहीं करने पर नक्सलियों द्वारा जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है।

एक अन्य मामला सरगुजा जिले के अजाक थाने में एक महिला का अपमान के संबंध में दर्ज किया गया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बलरामपुर जिला पुलिस ने जायसवाल के खिलाफ अवैध वसूली और डकैती के आरोप में बसंतपुर, वाड्रफनगर और डिंडो थाने में भी मामला दर्ज किया है।

यादव ने बताया कि कई पीड़ित अब तक जायसवाल के जाल में फंस चुके हैं, लेकिन उन्होंने आरोपी द्वारा वेब पोर्टल के माध्यम से झूठी, अपमानजनक जानकारी फैलाने के डर से शिकायत नहीं की है। उन्होंने बताया कि जायसवाल ने अपने खिलाफ शिकायत करने वाले को थाना परिसर के भीतर डराने की कोशिश भी की थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़