कैलाश विजयवर्गीय और डॉ. नरोत्तम मिश्रा की मुलाकात बनी राजनीतिक चर्चा का विषय

कैलाश विजयवर्गीय और डॉ. नरोत्तम मिश्रा की मुलाकात बनी राजनीतिक चर्चा का विषय

गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कैलाश जी बंगाल चुनाव में प्रभारी थे। मैं सहायक था। वे मेरे अच्छे मित्र हैं। वे मेरे निवदेन पर चाय पर आए थे। यह सहज मुलाकात थी। इसे किसी राजनीतिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए। दूसरी तरफ पार्टी के नेताओं की माने तो अगले माह केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार होने की उम्मीद है। इसलिए विजयवर्गीय सक्रिय हैं।

भोपाल। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने सोमवार को मध्य प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा के निवास पहुंचकर उनसे मुलाकात की। दोनों राजनेताओं के बीच करीब एक घंटे तक बंद कमरे के अंदर चर्चा हुई। दोनों नेताओं की इस मुलाकात के बाद मध्य प्रदेश की राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का दौर तेज हो गया है। इसकी वजह बंगाल चुनाव के बाद विजयवर्गीय को अस्थाई तौर पर कोई नई जिम्मेदारी नहीं मिलना और प्रदेश में सक्रिय होना है।

 

इसे भी पढ़ें: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कमलनाथ पर साधा निशाना, कमलनाथ को बताया झूठ का पुलिंदा

गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जहां कोई नेता एक-दूसरे से मिलते हैँ तो वहां राजनीतिक चर्चा होना स्वभाविक है, लेकिन इस मुलाकात में कोई नया समीकरण नहीं बन रहा है। मैं 6 महीने बाद भोपाल आया हूं, मित्रों से मिलने। वही गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कैलाश जी बंगाल चुनाव में प्रभारी थे। मैं सहायक था। वे मेरे अच्छे मित्र हैं। वे मेरे निवदेन पर चाय पर आए थे। यह सहज मुलाकात थी। इसे किसी राजनीतिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए। दूसरी तरफ पार्टी के नेताओं की माने तो अगले माह केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार होने की उम्मीद है। इसलिए विजयवर्गीय सक्रिय हैं।

 

इसे भी पढ़ें: पूर्व पिपलोदा रियासत के राजकुमार मयूरध्वज सिंह का हुआ राज्याभिषेक

वही दूसरी ओर कैलाश विजयवर्गीय और गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम की मुलाकात को लेकर कांग्रेस ने तंज कसा है। पार्टी प्रदेश मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने सोशल मीडिया पर लिखा- मध्य प्रदेश में खेल चालू आहे.. एक घंटे की बंद कमरा बैठक में शिवराज सरकार के कामों की दिल खोलकर समीक्षा की गई?





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...