AAP के दावे की निकली हवा, क्या केरल ने दिल्ली के स्कूल देखने के लिए किसी को नहीं भेजा ? BJP ने भी किया हमला

AAP के दावे की निकली हवा, क्या केरल ने दिल्ली के स्कूल देखने के लिए किसी को नहीं भेजा ? BJP ने भी किया हमला
प्रतिरूप फोटो
Twitter

भाजपा के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने आतिशी के दावे का स्क्रीनशार्ट साझा किया और लिखा कि दिल्ली के शिक्षा मॉडल पर आम आदमी पार्टी का दावा उतना ही नकली है जितना कि इसका अध्ययन करने के लिए आना जाना... जबकि केरल के शिक्षा मंत्री ने आतिशी के दावे को खारिज कर दिया।

नयी दिल्ली। केरल के शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी ने आम आदमी नेता आतिशी के उस दावे को गलत ठहराया जिसमें उन्होंने कहा था कि केरल के अधिकारी दिल्ली के शिक्षा मॉडल को अपने राज्य में लागू करने के इच्छुक हैं। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भी आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा और केरल के शिक्षा मंत्री का जवाब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर साझा किया। 

इसे भी पढ़ें: अरविंद केजरीवाल पर जयराम ठाकुर का पलटवार, बोले- संयमित भाषा का करें इस्तेमाल 

भाजपा के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने आतिशी के दावे का स्क्रीनशार्ट साझा किया और लिखा कि दिल्ली के शिक्षा मॉडल पर आम आदमी पार्टी का दावा उतना ही नकली है जितना कि इसका अध्ययन करने के लिए आना जाना... इसके साथ ही अमित मालवीय ने पूछा कि क्या सिसोदिया नई प्रतिभाओं को उनके गैर-मौजूद शिक्षा मॉडल पर झूठ को आगे बढ़ाने के लिए तैयार कर रहे हैं?

क्या बोले केरल के शिक्षा मंत्री

केरल के शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी ने कहा कि केरल के शिक्षा विभाग ने दिल्ली मॉडल के बारे में जानने के लिए किसी को भेजा ही नहीं है। इसके साथ ही पिछले महीने केरल मॉडल का अध्ययन करने के लिए दिल्ली से आए अधिकारियों को भी हर संभव सहायता प्रदान की गई। हम जानना चाहेंगे कि आम आदमी पार्टी विधायक ने किन अधिकारियों का स्वागत किया। 

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल बोले- भाजपा और कांग्रेस ने हिमाचल को लूटा, आज दोनों मिलकर मुझे गालियां दे रहे 

इस संबंध में आतिशी का भी बयान सामने आया और उन्होंने बताया कि केरल से आखिर कौन आया था। अपने ट्वीट को रिट्वीट करते हुए आतिशी ने लिखा कि डॉ. बीआर अम्बेडकर स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस कालकाजी का कल सीबीएसई स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन के क्षेत्रीय सचिव विक्टर टी.आई और केरल सहोदय कॉम्प्लेक्स के परिसंघ डॉ. एम. दिनेश बाबू ने दौरा किया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।