पानीपुरी खाते हुए कुमार विश्वास ने तमिलनाडु के मंत्री पोनमुडी पर कसा तंज, ''जबान ठीक रखोगे तो स्वाद बना रहेगा''

पानीपुरी खाते हुए कुमार विश्वास ने तमिलनाडु के मंत्री पोनमुडी पर कसा तंज, ''जबान ठीक रखोगे तो स्वाद बना रहेगा''
ANI

कुमार विश्वास ने कहा कि तमिल बेहद समृद्ध और विकसित भाषा है। आपको गौरवान्वित होना चाहिए कि हम और आप ऐसे भाषा-परिवार का अंग हैं। और हाँ के पोनमुडी भाई,अपने क्षेत्रों में इडली-डोसा बनाने वाले दक्षिणी बंधुओं को हम प्यार व आदर से “अन्ना” कहते हैं। ज़बान ठीक रखोगे भाई तो स्वाद भी ठीक रहेगा।

हाल में ही हिंदी को लेकर तमिलनाडु के शिक्षा मंत्री ने विवादित बयान दे दिया था। दरअसल, तमिलनाडु के उच्च शिक्षा मंत्री के पोनमुडी ने कहा था कि हिंदी बोलने वाले हमारे यहां कोयंबटूर में पानी पुरी बेच रहे हैं। अब इसी को लेकर कुमार विश्वास ने उन पर तंज कसा है। हिंदी को लोकप्रियता के शिखर पर पहुंचाने में अपनी अलग भूमिका निभाने वाले कुमार विश्वास ने तंज भरे लहजे में लिखा कि जबान ठीक रखोगे तो स्वाद बना रहेगा। इसके साथ ही कुमार विश्वास ने पानी पूरी खाते हुए अपनी तस्वीर भी साझा की है। 

इसे भी पढ़ें: हिंदी भाषा पर तमिलनाडु के शिक्षा मंत्री का विवादित बयान, 'शहर में पानी पुरी कौन लोग बेच रहे हैं'

कुमार विश्वास ने कहा कि तमिल बेहद समृद्ध और विकसित भाषा है। आपको गौरवान्वित होना चाहिए कि हम और आप ऐसे भाषा-परिवार का अंग हैं। और हाँ के पोनमुडी भाई,अपने क्षेत्रों में इडली-डोसा बनाने वाले दक्षिणी बंधुओं को हम प्यार व आदर से “अन्ना” कहते हैं। ज़बान ठीक रखोगे भाई तो स्वाद भी ठीक रहेगा। लव यू..जय हिंद। उन्होंने आगे कहा कि हमारी तमिल मौसी के पुत्र भाई के पोनमुडी जी। हिंदी माँ के बेटे तो हर हाल में गौरवान्वित हैं। दक्षिण के अपने भाई-बहनों की स्वाद ग्रंथियों को ऊर्जा देने वाले गोलगप्पे बेचकर भी और इसी माँ हिंदी की कृपा से हिंदी कविता सुनाने चार्टर प्लेन से यात्रा करते हुए गोलगप्पे खाकर भी। जय हिंद।

इसे भी पढ़ें: केंद्र ने चेन्नई को हज रवानगी केंद्र बनाने पर विचार करने का आश्वासन दिया: स्टालिन

दरअसल, तमिलनाडु के शिक्षा मंत्री के पोनमुडी भरथियार विश्वविद्यालय के 37वें दीक्षांत समारोह में शामिल हुए थे। मंत्री ने कहा, कई लोगों ने कहा कि अगर आप हिंदी सीखते हैं तो आपको नौकरी मिल जाएगी। क्या ऐसी स्थिति है ... यहां कोयंबटूर में देखें, पानी-पुरी कौन बेच रहे हैं। ये वे (हिंदी भाषी) लोग हैं। इस समारोह की अध्यक्षता राज्य के राज्यपाल आर एन रवि ने की जो विश्वविद्यालय के कुलाधिपति भी हैं। मंत्री ने हिंदी थोपने के खिलाफ सत्तारूढ़ द्रविड़ मुनेत्र कषम (द्रमुक) के रुख को दोहराया। वहीं रवि ने इसे खारिज करते हुए कहा, किसी व्यक्ति पर हिंदी या कोई अन्य थोपने का कोई सवाल ही नहीं है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।