लाउडस्पीकर मामले में गिरिराज सिंह ने की CM योगी की तारीफ, बोले- पूरे देश में लागू होना चाहिए कानून

लाउडस्पीकर मामले में गिरिराज सिंह ने की CM योगी की तारीफ, बोले- पूरे देश में लागू होना चाहिए कानून
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की। इस दौरान उन्होंने कहा कि योगी जी ने देश में एक सामाजिक समरसता का माहौल खड़ा किया है, ध्वनि को कम करना और अवैध ध्वनि विस्तारक को उतारना चाहे मंदिर पर हो या मस्जिद पर हो। अब देखना होगा कि तथाकथित टुकड़े-टुकड़े गैंग क्या बोलती है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के धार्मिक स्थलों से करीब 22,000 अनधिकृत लाउडस्पीकरों को हटाया गया है। जबकि अन्य 42,000 लाउडस्पीकरों की आवाज को धीमा करके तय मानक के अनुसार किया गया है। इसी बीच केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का बयान सामने आया। उन्होंने कहा कि अब देखना होगा कि तथाकथित टुकड़े-टुकड़े गैंग क्या बोलती है ? 

इसे भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती बोलीं- देश में हो रहा हिंदू-मुस्लिम का खेल, धर्म के नाम चल रहा बुलडोजर, लोगों को दी जा रही तलवारें 

पूरे देश में लागू होना चाहिए कानून

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की। इस दौरान उन्होंने कहा कि योगी जी ने देश में एक सामाजिक समरसता का माहौल खड़ा किया है, ध्वनि को कम करना और अवैध ध्वनि विस्तारक को उतारना चाहे मंदिर पर हो या मस्जिद पर हो। अब देखना होगा कि तथाकथित टुकड़े-टुकड़े गैंग क्या बोलती है और यह कानून पूरे देश में लागू होना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: उमर अब्दुल्ला के बयान पर शाहनवाज का पलटवार, बोले- अल्पसंख्यकों के लिए भारत से बेहतर देश नहीं 

बिना भेदभाव के हटाए जा रहे लाउडस्पीकर

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि धार्मिक स्थलों से अनधिकृत लाउडस्पीकरों को हटाने और अन्य की आवाज को तय सीमा के भीतर निर्धारित करने के लिए राज्यव्यापी अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिना किसी भेदभाव के सभी धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि गुरुवार शाम तक कुल 21,963 लाउडस्पीकरों को हटा दिया गया और 42,332 लाउडस्पीकरों की आवाज को धीमा कर दिया गया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...