'नजर रखें, सुरक्षा दें और कुछ मिठाइयां-फल भी भेजें', संघ प्रमुख के बंगाल दौरे को लेकर ममता ने पुलिस अधिकारियों को दिए निर्देश

Mamata
Creative Common
अभिनय आकाश । May 17, 2022 7:46PM
ममता ने कहा कि हो सके तो प्रशासन की ओर से कुछ मिठाइयाँ और फल भेजें ताकि वे समझ सकें कि हम अपने मेहमानों की अच्छी देखभाल करते हैं। इसके साथ ही सीएम ममता ने इसमें जोड़ते हुए कहा कि लेकिन ओवरबोर्ड मत जाओ, अन्यथा वह फायदा उठा सकते हैं।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत चार दिनों तक पश्चिम बंगाल के पश्चिम मेदिनीपुर के केशियारी में आरएसएस की सांगठनिक बैठक में हिस्सा लेंगे। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत के दौरे से पहले सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करते हुए पुलिस अधिकारियों से कहा कि यह सुनिश्चित करें कि कोई दंगा न हो। ममता बनर्जी ने कहा, "आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत 17 से 20 मई तक पश्चिम मिदनापुर के केशियारी गांव में रहेंगे। उनका एजेंडा क्या है? नजर रखें, उचित सुरक्षा दें ताकि वे दंगे न भड़काएं।

इसे भी पढ़ें: झारखंड के खिलाफ रणजी क्वार्टर फाइनल मैच के लिए रिद्धिमान की बंगाल टीम में वापसी

ममता ने कहा कि हो सके तो प्रशासन की ओर से कुछ मिठाइयाँ और फल भेजें ताकि वे समझ सकें कि हम अपने मेहमानों की अच्छी देखभाल करते हैं। इसके साथ ही सीएम ममता ने इसमें जोड़ते हुए कहा कि लेकिन ओवरबोर्ड मत जाओ, अन्यथा वह फायदा उठा सकते हैं। बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री मंगलवार को पश्चिम मिदनापुर जिले में प्रशासनिक बैठक कर रही थीं। इसमें वरिष्ठ नौकरशाहों, जिला अधिकारियों और पुलिस ने भाग लिया।

इसे भी पढ़ें: भगवान बुद्ध की शिक्षा लोगों को शांति, अहिंसा के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करती है : ममता बनर्जी

केशियारी में शिविर लगाने का कार्यक्रम है जहां वह आरएसएस के प्रशिक्षण शिविर में भाग लेंगे। शिविर तीन सप्ताह तक चलेगा। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत चार दिनों तक केशियारी में रहेंगे। वह संघ शिक्षा वर्ग में हिस्सा लेंगे। इस दौरान स्वंयसेवकों को शारीरिक और बौद्धिक प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त विभिन्न कार्यशाला का भी आयोजन होगा। केशियारी के अतिरिक्त उलबेड़िया सहित राज्य के पांच स्थानों पर फिलहाल आरएसएस के शिक्षा संघ वर्ग चल रहा है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़