पल्स पोलियो 2020-21 का राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान आज शुरू

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2022   23:16
पल्स पोलियो 2020-21 का राष्ट्रीय टीकाकरण  अभियान आज  शुरू

अधिकांश जिलों में बूथों का उद्घाटन मंत्रियों/विधायकों/उपायुक्तों/नगर पार्षदों/सिविल सर्जन या अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित प्रतिष्ठित व्यक्तियों द्वारा किया गया है। इसी कड़ी में, सांसद श्री कृष्ण पाल गुर्जर एवं श्री रमेश कौशिक ने क्रमश: जिला पलवल और सोनीपत में इस अभियान का उद्घाटन किया। परिवहन मंत्री हरियाणा श्री मूलचंद शर्मा ने जिला फरीदाबाद में किया राउंड का उद्घाटन किया।

चंडीगढ़ ।  पल्स पोलियो 2020-21 का राष्ट्रीय टीकाकरण (एनआईडी) अभियान आज राज्य के सभी जिलों में शुरू किया गया जिसमें राज्य की पोलियो मुक्त स्थिति को बनाए रखने के लिए पहले दिन बूथ गतिविधि की गई ।  कोविड-19 महामारी के वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए सभी स्वास्थ्य अधिकारी और अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता पूरी सावधानी के साथ काम कर रहे हैं जैसे कि व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, मास्क, सैनिटाइजर, दस्ताने आदि का उपयोग किया जा रहा है। टीमें हाथ की स्वच्छता, श्वसन स्वच्छता और सामाजिक दूरी करने के उपायों का पालन कर रही हैं।

 

इस संबंध में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि अधिकांश जिलों में बूथों का उद्घाटन मंत्रियों/विधायकों/उपायुक्तों/नगर पार्षदों/सिविल सर्जन या अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित प्रतिष्ठित व्यक्तियों द्वारा किया गया है। इसी कड़ी में,  सांसद श्री कृष्ण पाल गुर्जर एवं श्री रमेश कौशिक ने क्रमश: जिला पलवल और सोनीपत में इस अभियान का उद्घाटन किया।  परिवहन मंत्री हरियाणा श्री मूलचंद शर्मा ने जिला फरीदाबाद में किया राउंड का उद्घाटन किया।

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन से हरियाणा के नागरिकों की सकुशल वापसी के लिए केंद्र के संपर्क में हरियाणा सरकार

इसके अलावा, विधायक श्री दीपक मंगला ने पलवल, श्री  सुधीर सिंगला एवं श्री संजय सिंह ने गुडग़ांव, श्री सुभाष सुधा ने कुरुक्षेत्र, श्री मोहन लाल ने सोनीपत, श्री घनश्याम दास ने भिवानी एवं श्री लक्ष्मण सिंह यादव ने रेवाड़ी में एनआईडी राउंड की शुरुआत की। राज्य में इस अभियान के दौरान लगभग 36 लाख बच्चों को कवर किया जाएगा और  हाउस-टू-हाउस गतिविधि के माध्यम से यह अभियान अगले दो दिनों तक जारी रहेगा।  

इसे भी पढ़ें: भिवानी में आयोजित 38 वीं राज्य पशु प्रदर्शनी में ऊंट की सवारी कर उपस्थित भीड़ का अभिवादन किया

उन्होंने बताया कि गतिविधि के पहले दिन, 5 वर्ष से कम उम्र के लगभग 20 लाख (55त्न) बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई गई। इस अभियान को चलाने के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं/स्वयंसेवकों/आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं/आशा कार्यकर्ताओं आदि सहित लगभग 30000 स्वास्थ्य टीमों का गठन किया गया है।  लगभग 1500 मोबाइल टीमें इस गतिविधि के दौरान ईंट भ_ों, निर्माण स्थलों, मुर्गी फार्मों, झुग्गी-झोपडिय़ों आदि जैसे कम पहुंच वाले वाले क्षेत्रों में सभी बच्चों को कवर करने के लिए काम कर रही हैं। उन्होंने बताया कि लगभग 5000 क्षेत्र पर्यवेक्षकों और एनपीएसपी-डब्ल्यूएचओ के मॉनिटर्स सहित जिला स्तर के अधिकारियों ने सभी जिलों में गतिविधि की निगरानी की। इस अभियान की निगरानी के लिए एनएचएम कार्यालय से 12 राज्य पर्यवेक्षकों को तैनात किया गया है।  

उन्होंने बताया कि शेष बच्चे, जो 27 फरवरी को बूथ गतिविधि के दौरान पोलियो ड्रॉप प्राप्त करने में असमर्थ रहेंगे, उन्हें 28 फरवरी और 1 मार्च 2022 को घर-घर टीमों  के माध्यम से और झुग्गी-झोपड़ी जैसे उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में मोबाइल टीमों के माध्यम से पोलियो वैक्सीन की बूंदें पिलाई जाएंगी।  

इसे भी पढ़ें: अंत्योदय की भावना के साथ जनहित में कदम बढ़ा रही है सरकार: मनोहर लाल

उन्होंने बताया कि सभी हितधारक विभागों की लगातार कड़ी मेहनत के कारण, भारत और हरियाणा 2012 से पोलियो मुक्त हैं और एनआईडी / एसएनआईडी के प्रत्येक अभियान के साथ यह सुनिश्चित किया जाता है कि भारत की पोलियो मुक्त स्थिति बनी रहे और आम जनता से भी सक्रिय भागीदारी अपेक्षित है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।