नेताजी को लंबे समय से उपेक्षित किया गया, इतिहास को बदलने का हो रहा प्रयास: ममता बनर्जी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2020   08:25
नेताजी को लंबे समय से उपेक्षित किया गया, इतिहास को बदलने का हो रहा प्रयास: ममता बनर्जी

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मैं देख सकती हूं कि इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने की प्रवृत्ति बढ़ती जा रही है, एक एजेंडे के अनुसार... जो लोग देश के स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा थे, उनकी अनदेखी की जा रही है।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस और देश के स्वतंत्रता आंदोलन में उनके योगदान को लंबे समय से उपेक्षित किया गया और स्वतंत्रता संग्राम के खिलाफ रहे लोगों को राजनीतिक रंग में रंगकर इतिहास को बदलने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनके लापता होने के 75 साल बाद भी, लोगों को इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि नेताजी के साथ आखिर हुआ क्या था। 

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल में छिड़ा सियासी संग्राम, ममता और भाजपा के बीच तकरार चरम पर 

बनर्जी ने राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं देख सकती हूं कि इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने की प्रवृत्ति बढ़ती जा रही है, एक एजेंडे के अनुसार... जो लोग देश के स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा थे, उनकी अनदेखी की जा रही है। उन्होंने कहा कि इन दिनों, उन लोगों को प्राथमिकता दी जा रही है जिन्होंने एक समय आजादी की लड़ाई का विरोध किया था। यह सब इसलिए किया जा रहा है, ताकि लोग सच्चाई को भुला दें। तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि पश्चिम बंगाल में छात्रों को देश के सच्चे नेताओं के बारे में बताया जाता है और शिक्षक इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।