पहले चायवाला और अब चौकीदार, देश वाकई बदल रहा है: मायावती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 19, 2019   13:10
पहले चायवाला और अब चौकीदार, देश वाकई बदल रहा है: मायावती

मायावती ने कहा कि सादा जीवन उच्च विचार के विपरीत शाही अन्दाज में जीने वाले जिस व्यक्ति ने पिछले लोकसभा चुनाव के समय वोट की खातिर अपने आपको चायवाला प्रचारित किया था, वह अब इस चुनाव में वोट के लिये ही बड़े तामझाम और शान के साथ अपने आपको चौकीदार घोषित कर रहे हैं।

लखनऊ। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए  मैं भी चौकीदार अभियान पर बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को तंज करते हुये कहा कि पिछले चुनाव में चायवाला और अब चौकीदार..., देश वाकई बदल रहा है। बाद में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी चौकीदार मुद्दे पर सरकार की खिंचाई की। मायावती ने आज ट्वीट किया कि सादा जीवन उच्च विचार के विपरीत शाही अन्दाज में जीने वाले जिस व्यक्ति ने पिछले लोकसभा चुनाव के समय वोट की खातिर अपने आपको चायवाला प्रचारित किया था, वह अब इस चुनाव में वोट के लिये ही बड़े तामझाम और शान के साथ अपने आपको चौकीदार घोषित कर रहे हैं। देश वाकई बदल रहा है।

इसे भी पढ़ें: पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला के घर चोरी, चौकीदार पर दर्ज हुआ मामला

उधर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि विकास पूछ रहा है कि खाद की बोरी से चोरी रोकने के लिये भी कोई चौकीदार है क्या? दूसरे ट्वीट में अखिलेश ने कहा कि विकास पूछ रहा है कि जनता के बैंक खाते से चोरी छिपे जो पैसे काटे जा रहे हैं, उससे बचाने के लिये कोई चौकीदार है क्या? तीसरे ट्वीट में उन्होंने कहा  विकास पूछ रहा है कि मंत्रालय से जहाज की फाइल चोरी होने के लिये जिम्मेदार लापरवाह चौकीदार को सजा मिली क्या? 

इसे भी पढ़ें: टाइम्स नाउ और VMR के सर्वे ने भी कहा, दोबारा बनेगी चौकीदार की सरकार

गौरतलब है कि गंगा यात्रा पर निकलीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी सोमवार को चौकीदार मुद्दे पर मोदी को निशाने पर लिया था। नाम के आगे चौकीदार लगाने पर प्रियंका गांधी ने कहा था कि उनकी (प्रधानमंत्री मोदी की) मर्जी है कि वह अपने नाम के आगे क्या लगाएं। मुझे एक भाई ने कहा कि देखिए, चौकीदार तो अमीरों के होते हैं। हम किसान तो अपने चौकीदार खुद ही होते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।