खेल ही नहीं, समाज और राष्ट्र निर्माण में भी टीम भावना महत्वपूर्ण: योगी आदित्यनाथ

Yogi Adityanath
ANI
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अमिताभ बच्चन खेल परिसर के लिए सरकार की योजना 60 करोड़ रुपये खर्च करने की है। प्रयागराज में सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों पर 10.16 करोड़ रुपये, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के लिए 10.86 करोड़ रुपये, चंद्रशेखर आजाद पार्क में खेल सुविधाओं के लिए 7.73 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।
प्रयागराज। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि खेलों में परिणाम के लिए खिलाड़ियों को एकलव्य की तरह एकाग्र होने पड़ेगा और टीम भावना से काम करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि टीम वर्क से परिणाम कई गुना बढ़ जाता है और टीम भावना खेल ही नहीं, समाज और राष्ट्र निर्माण के लिए भी महत्वपूर्ण है। यहां अमिताभ बच्चन खेल परिसर (पूर्व में म्योहॉल) के स्वर्ण जयंती समारोह को मुख्य अतिथि के तौर पर संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “वैश्विक मंच पर किसी देश के सामर्थ्य की तुलना जिन चीजों से की जाती है, खेल उनमें से एक है।” उन्होंने कहा, “आज देश के यशस्वी प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में भारत प्रत्येक क्षेत्र में नित नई ऊंचाइयों को छू रहा है और उनमें खेल क्षेत्र भी शामिल है जो पहले उपेक्षित था। प्रयागराज में खेल गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए प्रदेश सरकार अकेले प्रयागराज में स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 100 करोड़ रुपये खर्च कर रही है।” 

इसे भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ का दावा, अयोध्या में राम मंदिर का 50 फीसदी से ज्यादा काम पूरा होने के करीब

योगी आदित्यनाथ ने कहा, “अमिताभ बच्चन खेल परिसर के लिए सरकार की योजना 60 करोड़ रुपये खर्च करने की है। प्रयागराज में सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों पर 10.16 करोड़ रुपये, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के लिए 10.86 करोड़ रुपये, चंद्रशेखर आजाद पार्क में खेल सुविधाओं के लिए 7.73 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।” मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार मेरठ में मेजर ध्यान चंद के नाम पर पहला खेल विश्वविद्यालय बनाने जा रहा है और इसका कार्य प्रारंभ हो चुका है। इस विश्वविद्यालय में विश्व स्तर की खेल सुविधाएं उपलब्ध होंगी। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि उच्चतम न्यायालय के न्यायमूर्ति विक्रम नाथ ने मुख्यमंत्री से अमिताभ बच्चन खेल परिसर का विस्तार करने के लिए आसपास उपलब्ध सरकारी जमीन उपलब्ध कराने का आग्रह किया। 

इसे भी पढ़ें: गोरखपुर चिड़ियाघर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहले तेंदुए के बच्चे को पिलाया दूध, फिर कर दिया उसका नामकरण

इस आग्रह पर मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं इस परिसर से जुड़े सभी महानुभावों को इस बात के लिए आश्वस्त करता हूं कि राज्य सरकार किसी भी तरह का अभाव नहीं होने देगी। यहां पर अपर मुख्य सचिव (खेल) और खेल मंत्री भी मौजूद हैं। मैं इन सभी से कहूंगा कि इस संबंध में कार्ययोजना तैयार कर इसे आगे बढ़ाएं।” कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक, खेल मंत्री गिरीश चंद्र यादव, औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, इलाहाबाद से सांसद रीता बहुगुणा जोशी, फूलपुर से सांसद केशरी देवी पटेल, कौशांबी से सांसद विनोद सोनकर और कई विधायक मौजूद थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़