गणतंत्र दिवस के दिन हुई पिता को पुत्र प्राप्ति, तो नाम रखा 26 जनवरी, जानिए पूरी कहानी

26 january name of a person
सुयश भट्ट । Jan 26, 2022 2:12PM
अपने अनोखे नाम की वजह से 26 जनवरी को तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। लेकिन अपने काम और व्यवहार के कारण वह अपने सहकर्मियों के सबसे चहेते हैं। इसके साथ ही उन्हें उसे इस बात का गर्व भी है कि उसके जन्मदिन पर सारे देश में झंडा फहराया जाता है और उत्सव का माहौल होता है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मंदसौर शहर से एक अनोखी खबर सामने आ रही है। मंदसौर में रहने वाले एक शख्स का नाम 26 जनवरी है। जहां आज सारा देश 73वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। वहीं ये व्यक्ति अपना 56वां जन्मदिन मना रहा है।

अपने अनोखे नाम की वजह से 26 जनवरी को तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। लेकिन अपने काम और व्यवहार के कारण वह अपने सहकर्मियों के सबसे चहेते हैं। इसके साथ ही उन्हें उसे इस बात का गर्व भी है कि उसके जन्मदिन पर सारे देश में झंडा फहराया जाता है और उत्सव का माहौल होता है।

इसे भी पढ़ें:महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर दिखेगा राजनीतिक द्वन्द, हिंदू महासभा मनाएगी स्मृति दिवस, कांग्रेस करेगी हनुमान चालीसा का पाठ 

मंदसौर डाइट कॉलेज यानी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण केंद्र में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के रूप में काम करने वाले इस शख्स का पूरा नाम 26 जनवरी टेलर है। लोग इन्हें छब्बीस के नाम से भी जानते हैं। इनके नाम के पीछे की कहानी काफी रोचक है।

जानकारी के अनुसार पिता सत्यनारायण टेलर एक शिक्षक थे और 26 जनवरी के दिन सुबह अपने स्कूल में झंडा वंदन कार्यक्रम कर रहे थे। तभी उन्हें किसी ने खबर दी कि उनके घर एक बेटे का जन्म हुआ है। गणतंत्र दिवस की खुशी और घर में बेटे के जन्म ने शिक्षक सत्यनारायण टेलर इतने भावुक हो उठे कि उन्होंने अपने बच्चे का नाम ही 26 जनवरी रख दिया।

इसे भी पढ़ें:कमलनाथ ने बीजेपी सरकार पर साधा निशाना, कहा- संविधान का करती है दुरुपयोग 

वहीं 26 जनवरी के पिता को कई बार समझाया कि बच्चे का कोई दूसरा नाम रख दो ,लेकिन वे नहीं माने। जिसके बाद स्कूल में एडमिशन और सभी दस्तावेजों उनका नाम 26 जनवरी ही लिखा गया। उनके बचपन में दोस्त 26 कहकर बुलाते थे। वहीं कई जगह मजाक भी बनता था। वहीं जब भी कोई पहली बार मिलता और उनका नाम सुनता तो वह भी हंसता था।

बता दें कि इधर सरकारी नौकरी या अन्य शासकीय कामों के लिए जब दस्तावेजों में इस व्यक्ति का नाम 26 जनवरी लिखा मिलता तो बहुत सारी दिक्कतें भी आती थीं। अरे भाई ऐसा नाम पहले किसी ने सुना भी तो नहीं था। वे कहीं रिश्तेदारों या परिचितों के बीच जाते तो लोग उनका नाम सुनकर उनसे जैसे खींचे हुए से मिलने चले आते।

इसे भी पढ़ें:जूते सहित कई उत्पादों पर तिरंगा प्रिंट, अमेजन के मालिक पर हुआ मामला दर्ज 

लेकिन अब 26 जनवरी को इस बात की भी खुशी है कि उनका जन्मदिन गणतंत्र दिवस के रूप में पूरे देश में मनाया जाता है। अब जब पूरा देश 26 जनवरी को याद करता है तो उन्हें अपने नाम को लेकर सही गई सारी तकलीफें छोटी लगने लगती हैं। काम के प्रति लअपनी गन और व्यवहार कुशलता के चलते आज भी ऑफिस में सभी 26 जनवरी की तारीफ करते हैं। 

बताया जा रहा है कि सबसे बड़ी बात यह गणतंत्र दिवस के दिन उन्हें पूरा स्टाफ और परिचित लोग उनके जन्म दिवस की बधाइयां देते हैं। कई ऐसे लोग भी होते हैं जो खास 26 जनवरी के दिन उनसे मिलकर उनके साथ सेल्फी लेना पसंद करते हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़