दिल्ली में एक व्यक्ति मंकीपॉक्स से संक्रमित पाया गया, भारत में रोगियों की संख्या चार हुई

monkeypox
राष्ट्रीय राजधानी में एक 34 वर्षीय व्यक्ति मंकीपॉक्स से संक्रमित पाया गया है। हालांकि उसने कोई विदेश यात्रा नहीं की थी। सरकार ने रविवार को यह जानकारी दी। भारत में मंकीपॉक्स संक्रमण का यह चौथा मामला सामने आया है।

नयी दिल्ली । राष्ट्रीय राजधानी में एक 34 वर्षीय व्यक्ति मंकीपॉक्स से संक्रमित पाया गया है। हालांकि उसने कोई विदेश यात्रा नहीं की थी। सरकार ने रविवार को यह जानकारी दी। भारत में मंकीपॉक्स संक्रमण का यह चौथा मामला सामने आया है। आधिकारिक सूत्रों ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि संक्रमित पाए गए व्यक्ति ने हाल में हिमाचल प्रदेश के मनाली में एक पार्टी में हिस्सा लिया था। पश्चिमी दिल्ली के रहने वाले इस व्यक्ति में मंकीपॉक्स के लक्षण दिखने के बाद उसे करीब तीन दिन पहले यहां लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में पृथक कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: नीरज चोपड़ा ने विश्व एथलेटिक्स में पाकिस्तान के अरशद नदीम के साथ की बातचीत, जानें क्या कुछ कहा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि उसके नमूने शनिवार को राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) पुणे भेजे गए थे और उनमें संक्रमण की पुष्टि हुई। उन्होंने कहा, रोगी का फिलहाल लोक नायक अस्पताल के निर्धारित पृथक केंद्र में इलाज किया जा रहा है। रोगी के संपर्क में आए लोगों की पहचान कर ली गई है और स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशानिर्देशों के अनुसार उन्हें पृथक किया गया है। अधिकारियों ने कहा, संक्रमण के स्रोत को जानने, रोगी के संपर्क में आए लोगों का तेजी से पता लगाने, जांच को लेकर संवेदनशीलता पैदा करने जैसे सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों पर काम किया जा रहा है। स्वास्थ्य विज्ञान महानिदेशालय ने रविवार शाम तीन बजे हालात की उच्चस्तरीय समीक्षा की योजना बनाई है। इससे पहले, केरल में मंकीपॉक्स के तीन मामले सामने आए थे।

इसे भी पढ़ें: छपरा में अवैध पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट, 6 लोगों की मौत, SP बोले- जांच जारी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शनिवार को कहा था कि 70 से अधिक देशों में मंकीपॉक्स फैलना एक ‘‘असाधारण’’ हालात है और यह अब वैश्विक आपात स्थिति है। मंकीपॉक्स संक्रमित जानवर के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संपर्क में आने से मनुष्यों में फैलता हैं। एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य में यह संक्रमण संक्रमित की त्वचा और श्वास छोड़ते समय नाक या मुंह से निकलने वाली छोटी बूंदों के संपर्क में आने से फैलता है। वैश्विक स्तर पर 75 देशों में मंकीपॉक्स के 16,000 से अधिक मामले सामने आए हैं और इस संक्रमण के कारण अभी तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़