219 छात्रों की घरवापसी से पहले रोमानिया में भारतीय राजदूत ने की भावुक संदेश, हर एक को यूक्रेन से निकालने के लिए...

219 छात्रों की घरवापसी से पहले रोमानिया में भारतीय राजदूत ने की भावुक संदेश, हर एक को यूक्रेन से निकालने के लिए...
प्रतिरूप फोटो

रोमानिया में भारतीय राजदूत राहुल श्रीवास्तव ने अपने संदेश में कहा कि जब कभी छात्र फंसे हुए अपने मित्रों से बात करें तब उन्हें बताएं पूरी भारत सरकार यूक्रेन से हर एक को निकालने के लिए दिन-रात काम कर रही है और हमारा अभियान तब तक पूरा नहीं होगा...

कीव। यूक्रेन में फंसे भारतीयों की सुरक्षित वापसी के लिए भारत सरकार ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। ऐसे में 219 भारतीयों को लेकर एयर इंडिया का विमान बुखारेस्ट से मुंबई के लिए रवाना हो गया है। विमान के रवाना होने से पहले रोमानिया में भारतीय राजदूत राहुल श्रीवास्तव ने भारतीयों को एक भावुक संदेश दिया, जो इंटरनेट पर काफी वायरल हो गया है। उन्होंने कहा कि जीवन में जब कभी आप महसूस करें कि चीजें कठिन हो गई हैं और आगे नहीं बढ़ रही हैं तब आप आज का दिन याद करें और फिर सब ठीक हो जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: Medical की पढ़ाई के लिए यूक्रेन ही क्यों जाते हैं ज्यादातर भारतीय छात्र? जानिए पूरी वजह 

उन्होंने कहा कि संपूर्ण भारत सरकार सभी को निकालने के लिए दिन-रात काम कर रही है और हमारा अभियान तब तक पूरा नहीं होगा जब तक कि हम अंतिम व्यक्ति को यहां से निकाल नहीं लेते हैं।

राहुल श्रीवास्तव ने अपने संदेश में कहा कि जब कभी छात्र फंसे हुए अपने मित्रों से बात करें तब उन्हें बताएं पूरी भारत सरकार यूक्रेन से हर एक को निकालने के लिए दिन-रात काम कर रही है और हमारा अभियान तब तक पूरा नहीं होगा जब तक यूक्रेन से अंतिम भारतीय नागरिक को नहीं निकाल लिया जाता है।

उन्होंने कहा कि आप अपने घर लौटने के अंतिम पड़ाव पर हैं जहां आपके रिश्तेदार, मित्र और परिवार आपका स्वागत करने के लिए इंतजार कर रहे हैं। आप वहां पहुंचेंगे तब वे आपको गले से लगा लेंगे। लेकिन जब आप अपने देश वापस लौटेंगे तब आप यह याद रखिए कि आपके मित्र अभी भी यूक्रेन में हैं। जब भी आपको अपने मित्रों से बात करने का मौका मिले, जो वहां से निकलने का इंतजार कर रहे हैं, तब आप उन्हें बताएं और आश्वस्त करें कि संप्रूर्ण भारत सरकार सभी को वहां से निकाल कर लाने के लिए दिन-रात काम कर रही है।

इसे भी पढ़ें: मृतकों के आंकड़ों के साथ हेर-फेर कर सकता है रूस, बख्तरबंद गाड़ियों के साथ तैनात है शव जलाने वाला वाहन

यूक्रेन और रूस के बीच छिड़े युद्ध को देखते हुए भारत सरकार अपने हर एक नागरिक की घर वापसी के लिए प्रतिबद्ध है। आपको बता दें कि यूक्रेन में फंसे छात्र यूक्रेन से सुकिएवा बॉर्डर से होते हुए रोमानिया पहुंचे। इस दौरान छात्रों ने तिरंगा को मजबूती से थामे रखा था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।