पाकिस्तान ने फिर से किया संघर्षविराम का उल्लंघन

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 5 2019 11:19AM
पाकिस्तान ने फिर से किया संघर्षविराम का उल्लंघन
Image Source: Google

जैश-ए-मोहम्मद के पुलवामा में 14 फरवरी को किए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत के 26 फरवरी को खैबर पख़्तूनख़्वा प्रांत के बालाकोट में जैश-ए मोहम्मद के आतंकवादी शिविर पर हमला करने के बाद पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन बढ़ गया है।

जम्मू। पाकिस्तानी सैनिकों ने सोमवार को जम्मू कश्मीर में दो स्थानों पर नियंत्रण रेखा के पास स्थित गांवों और अग्रिम चौकियों को निशाना बनाकर संघर्षविराम का उल्लंघन किया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जम्मू क्षेत्र के अखनूर और पुंछ सेक्टरों में पाकिस्तान ने गोलीबारी की। हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। रक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू जिले के अखनूर सेक्टर में बिना उकसावे के तड़के लगभग तीन बजे अग्रिम चौकियों और गांवों पर मोर्टार गोलों तथा छोटे हथियारों से गोलीबारी करके पाकिस्तान ने संघर्षविराम का उल्लंघन किया।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: कोच्चि को कराची बोल गये मोदी, फिर कहा: इन दिनों दिमाग में पाकिस्तान ही रहता है

उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने इसका कड़ाई और प्रभावशाली ढ़ंग से जवाब दिया और दोनों ओर से सुबह साढ़े छह बजे तक गोलीबारी चलती रही। प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तान ने पुंछ सेक्टर में भी सुबह लगभग साढ़े पांच बजे बिना उकसावे के मोर्टार से गोलाबारी और छोटे हथियारों से गोलीबारी की गई जिसका भारतीय सेना ने कड़ा और प्रभावशाली जवाब दिया। राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में शनिवार दोपहर दो घंटे तक सीमा-पार से हुई गोलीबारी के अलावा शुक्रवार रात से नियंत्रण रेखा पर शांति बनी हुई थी।

इसे भी पढ़ें: भारत-पाकिस्तान का एकसाथ लाने की कोशिश कर रहा है अमेरिका : पोम्पिओ

इस शांतिकाल में सीमा पर रहने वाले लोगों को सीमा-पार गोलीबारी से काफी राहत मिली, विशेषकर पुंछ और राजौरी जिले में जहां पाकिस्तान ने 50 से अधिक बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया और 80 गांवों को निशाना बनाया। इसमें एक परिवार के तीन सदस्य सहित चार लोगों की मौत हुई है और कई लोग घायल हुए हैं। जैश-ए-मोहम्मद के पुलवामा में 14 फरवरी को किए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत के 26 फरवरी को खैबर पख़्तूनख़्वा प्रांत के बालाकोट में जैश-ए मोहम्मद के आतंकवादी शिविर पर हमला करने के बाद पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन बढ़ गया है। बढ़ते तनाव के बीच सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने शनिवार को जम्मू के व्हाइट नाइट कोर का दौरा किया था और एलओसी तथा अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास मौजूदा स्थिति के मद्देनजर उन्होंने कोर जोन में सुरक्षा बलों की परिचालन तैयारियों की समीक्षा की थी।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video