अधीर रंजन की आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर Parliament में भारी हंगामा, स्मृति और सोनिया की भी ठन गई

Adhir Ranjan
ANI Image
राज्यसभा में तीन सदस्यों को सदन में अशोभनीय आचरण के कारण मौजूदा सप्ताह के शेष समय के लिए निलंबित कर दिया गया। निलंबित सदस्यों में सुशील कुमार गुप्ता, संदीप कुमार पाठक और अजीत कुमार भुइयां शामिल हैं। इसी बीच लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने भाजपा को एक नया मुद्दा दे दिया।

संसद के मानसून सत्र में विभिन्न मुद्दों पर विपक्ष के हंगामे के कारण जारी गतिरोध नौवें दिन भी कायम रहा। पिछले दो दिनों से विपक्षी सांसदों को सदन की कार्यवाही से निलंबित किया जा रहा है और गुरुवार को भी उच्च सदन के 3 सांसदों को अशोभनीय आचरण के चलते निलंबित कर दिया गया। इसी बीच लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को एक नया मुद्दा दे दिया, जिसको लेकर भाजपा हमलावर है। दरअसल, अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की। हालांकि उन्होंने बाद में इसके लिए माफी भी मांगी और कहा कि मेरे जुबान से गलती से राष्ट्रपत्नी निकला, मैंने अपनी गलती स्वीकारी है... मैंने राष्ट्रपति से समय मांगा है, मैं उनसे बात कर माफी मांगूंगा।

इसे भी पढ़ें: संसद में हंगामा करना सरकार को घेरने का सबसे कमजोर तरीका है 

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और भाजपा की कई अन्य महिला सांसदों ने लोकसभा की कार्यवाही आरंभ होने के साथ ही इस विषय को जोरदार तरीके से उठाया और कांग्रेस एवं उसकी नेता सोनिया गांधी पर तीखा प्रहार किया। सदन में हंगामे के चलते कार्यवाही पूरी तरह बाधित हुई। भाजपा ने कांग्रेस को ‘आदिवासियों, महिलाओं और गरीबों का विरोधी’ करार देते हुए सोनिया गांधी से इस पर माफी की मांग की। इस दौरान सदन में सोनिया गांधी इस्तीफा दो के नारे भी खूब लगे।

स्मृति ईरानी ने कहा कि अधीर रंजन चौधरी ने देश की पहली महिला आदिवासी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपत्नी कहकर उनका अपमान किया। इस देश का गौरव है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 75 साल की आजादी में पहली बार किसी गरीब आदिवासी महिला को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया। राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनते ही द्रौपदी मुर्मू कांग्रेस की घृणा का केंद्र बन गईं। कांग्रेस के पुरुष नेताओं ने द्रौपदी मुर्मू को कठपुतली कहा, द्रौपदी मुर्मू को अमंगल का प्रतीक कहा और कल सदन में अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति को राष्ट्रपत्नी कहकर उनका अपमान किया।

स्मृति और सोनिया की ठन गई

लोकसभा में कार्यवाही स्थगित होने के बाद सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच तीखी नोकझोंक हुई। लोकसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे के कुछ ही देर बाद जब दोबारा स्थगित की गई तो सोनिया गांधी सत्तापक्ष की सीटों की तरफ गईं और उन्होंने भाजपा सांसद रमा देवी से पूछना चाहा कि इस विवाद में उनका नाम क्यों खींचा जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: गांधी प्रतिमा के सामने निलंबित सांसदों का 50 घंटों का धरना, प्रह्लाद जोशी बोले- आपके व्यवहार को देख रही है जनता, यह ठीक नहीं 

इसी दौरान स्मृति ईरानी भी वहां पहुंचीं और उन्होंने सोनिया गांधी के करीब जाकर अधीर रंजन के बयान का विरोध किया। पहले तो सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी को अनदेखा किया लेकिन फिर उन्होंने स्मृति ईरानी पर नाराजगी भरे लहजे में कुछ कहा... प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी से कहा कि Don't talk to me. जिसके बाद दोनों के बीच ठन गई और फिर एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले और तृणमूल कांग्रेस की सांसद अपरूपा पोद्दार, सोनिया गांधी को वहां से लेकर चली गईं।

राज्यसभा की कार्यवाही

राज्यसभा में तीन सदस्यों को सदन में अशोभनीय आचरण के कारण मौजूदा सप्ताह के शेष समय के लिए निलंबित कर दिया गया। निलंबित सदस्यों में सुशील कुमार गुप्ता, संदीप कुमार पाठक और अजीत कुमार भुइयां शामिल हैं। उच्च सदन की बैठक शुरू होने पर संसदीय कार्य राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने नियम 256 के तहत सुशील कुमार गुप्ता, संदीप पाठक तथा अजीत कुमार भुइयां को सदन में अशोभनीय आचरण के लिए मौजूदा सप्ताह के शेष समय के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव किया। सदन ने उनके इस प्रस्ताव को ध्वनिमत से मंजूरी दे दी। विपक्षी सदस्यों ने इस प्रस्ताव पर मत-विभाजन कराने की मांग की। इस पर हरिवंश ने कहा कि पहले हंगामा कर रहे सदस्य अपनी सीट पर जाएं, फिर वह मत-विभाजन की अनुमति देंगे। लेकिन आसन के समीप आए सदस्य अपनी सीट पर नहीं गए और हरिवंश ने ध्वनिमत के जरिए प्रस्ताव को मंजूरी दिलवाई।

विमानों में तकनीकी खराबी के 478 मामले

सरकार ने बताया कि एक जुलाई, 2021 से 30 जून, 2022 तक विमानों में तकनीकी खराबी के कुल 478 मामलों की सूचना मिली है। सौगत राय के प्रश्न के लिखित उत्तर में नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि विमानों के परिचालन के दौरान उनके पुर्जों या उपकरणों में खराबी के कारण तकनीकी कठिनाइयों का अनुभव हो सकता है। उन्होंने कहा कि यात्रियों एवं विमानों की सुरक्षा के लिए डीजीसीए का एक निर्धारित निगरानी तंत्र है।

इसे भी पढ़ें: लोकसभा ने राष्ट्रीय डोपिंग रोधी विधेयक को दी मंजूरी, अनुराग ठाकुर बोले- आत्मनिर्भर भारत को मिलेगा बल 

साई में यौन उत्पीड़न की मिलीं 30 शिकायतें

सरकार ने बताया कि साल वर्ष 2017 से लेकर अब तक भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) में प्रशिक्षकों और कर्मचारियों के खिलाफ यौन उत्पीड़न की 30 शिकायत प्राप्त हुई हैं और इन सभी मामलों में आवश्यक कार्रवाई की गई है। राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने यह जानकारी दी। केंद्रीय मंत्री द्वारा प्रस्तुत आंकड़ों के मुताबिक सबसे अधिक छह शिकायतें साई के राजधानी दिल्ली स्थित मुख्यालय से आई हैं जबकि साई के कोलकाता और बेंगलुरु केंद्रों से पांच-पांच और मुंबई केंद्र से चार शिकायत प्राप्त हुई हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़