पात्रा चॉल घोटाला: संजय राउत पर गिरी गाज, 9 घंटे की पूछताछ के बाद ED ने हिरासत में लिया

Shiv Sena
ANI Image
पात्रा चॉल घोटाला मामले को लेकर शिवसेना सांसद एवं नेता संजय राउत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रविवार को हिरासत में लिया है। आपको बता दें कि ईडी ने तड़के सुबह संजय राउत के आवास पर छापेमारी की। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, संजय राउत जांच एजेंसी का सहयोग नहीं कर रहे थे।

मुंबई। पात्रा चॉल घोटाला मामले को लेकर शिवसेना सांसद एवं नेता संजय राउत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रविवार को हिरासत में लिया है। आपको बता दें कि ईडी ने तड़के सुबह संजय राउत के आवास पर छापेमारी की और उनसे करीब 9 घंटे तक पूछताछ की। इसके बाद जांच एजेंसी ने संजय राउत को हिरासत में ले लिया। कहा जा रहा है कि ईडी  के समन के बावजूद संजय राउत पेश नहीं हुए थे। ऐसे में जांच एजेंसी ने उनके आवास पर छापेमारी की।

इसे भी पढ़ें: संजय राउत की वाणी और लेखनी मारती है डंक, ईडी कार्रवाई को लेकर अरविंद सावंत ने भाजपा पर साधा निशाना 

संजय राउत ने नहीं किया सहयोग

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, संजय राउत जांच एजेंसी का सहयोग नहीं कर रहे थे। उन्होंने ईडी से अधिकारियों से कहा कि आप मेरे घर क्यों आ गए, मैं आपके दफ्तर आ जाते। जिसके बाद जांच एजेंसी ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

इससे पहले ईडी ने संजय राउत के खिलाफ कई समन जारी किए थे, उन्हें 27 जुलाई को भी तलब किया गया था। संजय राउत को मुंबई के एक चॉल के पुनर्विकास और उनकी पत्नी एवं अन्य सहयोगियों की संलिप्तता वाले लेन-देन में कथित अनियमितताओं से जुड़े धनशोधन के एक मामले में पूछताछ के लिए ईडी ने तलब किया था। 

इसे भी पढ़ें: अगर कुछ गलत नहीं किया तो डर क्यों रहे हैं ? संजय राउत पर ED की कार्रवाई को लेकर बोले एकनाथ शिंदे 

 शिवसेना कार्यकर्ताओं का धरना

शिवसेना सांसद के आवास पर ईडी की छापेमारी और उन्हें हिरासत में लिए जाने के मामले को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया। आपको बता दें कि शिवसेना कार्यकर्ता संजय राउत के आवास के बाहर एकत्रित हो गए और वहीं पर बैठकर ईडी की कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं और जांच एजेंसी के खिलाफ नारेबाजी भी हो रही है।

ईडी की छापेमारी के दौरान संजय राउत ने कहा कि मैं मर जाऊंगा मगर आत्मसमर्पण नहीं करूंगा। उन्होंने कहा कि झूठी कार्रवाई, झूठे सबूत...मैं शिवसेना नहीं छोड़ूंगा..मैं मर भी जाऊंगा, मैं आत्मसमर्पण नहीं करूंगा...मेरा किसी घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़