बांकुरा में ममता सरकार पर बरसे पीएम मोदी, कहा- बंगाल में असली परिवर्तन लाकर दिखाएगी भाजपा

PM modi
अंकित सिंह । Mar 21, 2021 4:20PM
ममता पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति ने आपको क्या बना दिया है। आपने अपना ये असली चेहरा 10 साल पहले दिखा दिया होता तो बंगाल में कभी आपकी सरकार नहीं बनती।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए बांकुरा में भाजपा का चुनाव प्रचार किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ममता बनर्जी और उनकी सरकार पर जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने कहा कि बांकुरा की ये तस्वीर साक्षी है कि बंगाल के लोगों ने ठान लिया है- 2 मई, दीदी गई। आशोल पॉरिबोर्तोन होबे- बंगाल के गौरव को बढ़ाने के लिए। आशोल पॉरिबोर्तोन होबे- बंगाल में एक ऐसी सरकार लाने के लिए जो गरीबों की सेवा करे, उनकी तकलीफें दूर करें। दी अगर आप चाहती हैं तो आप अपना पैर मेरे सर पर रख सकती हैं, मुझे लात मार सकती हैं। लेकिन दीदी मेरी दूसरी बात भी कान खोलकर सुन लीजिए। मैं आपको अब बंगाल के विकास को लात नहीं मारने दूंगा। मैं आपको बंगाल के सपनों को लात नहीं मारने दूंगा।

ममता पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति ने आपको क्या बना दिया है। आपने अपना ये असली चेहरा 10 साल पहले दिखा दिया होता तो बंगाल में कभी आपकी सरकार नहीं बनती। ये हिंसा, ये अत्याचार, ये उत्पीड़न ही करना था तो फिर मां-माटी-मानुष की बात क्यों की आपने। उन्होंने कहा कि मैं जितना दीदी से आपके सवाल पूछता हूं, उतना वो मुझ पर गुस्सा करती हैं। अब तो कह रही हैं कि उनको मेरा चेहरा भी पसंद नहीं है। अरे दीदी, लोकतंत्र में चेहरा नहीं, जनता की सेवा, जनता के लिए किया गया काम कसौटी पर होता है। दीदी और उनकी सरकार ने 10 साल के दौरान पश्चिम बंगाल में क्या खेला किया, ये पूरा क्षेत्र इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। स्वर्गीय अजीत मूर्मू जैसे हमारे अनेक आदिवासी साथी तृणमूल के खैला के कारण शहीद हो गए।

इसे भी पढ़ें: पन्ना प्रमुख भाजपा की ताकत हैं, उन्हें दिलों को जीतने के लिए तैनात किया जाए: राजनाथ

मोदी ने कहा कि यहां का किसान साल में सिर्फ एक फसल लेने के लिए मजबूर है। यहां सिंचाई व्यवस्थाएं जर्जर क्यों हैं, परियोजनाएं लटकी क्यों हैं दीदी? यहां युवा परेशान हैं, चाकरी, उद्योग, निवेश कहां है दीदी? आपने 10 साल में सिर्फ खोखली घोषणाएं की हैं, जमीन पर काम कहां है दीदी? केंद्र सरकार हर घर पाइप से जल पहुंचाने के लिए अभियान चला रही है। हमने सैकड़ों करोड़ रुपए बंगाल सरकार को दिया है। लेकिन यहां की बहनें-बेटियां, बूंद-बूंद पानी के लिए परेशान हैं। नल कहां है दीदी, जल कहां है दीदी? यहां खेतों में पानी क्यों नहीं है दीदी? 

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी सोनार बांग्ला बनाना चाहते हैं और दीदी भतीजे को CM बनाना चाहती हैं: अमित शाह

मोदी ने लोगों से कहा कि बंगाल में आपको भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्थाएं मिलें, इसके लिए बीजेपी सरकार जरूरी है। बंगाल में विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के लिए बीजेपी सरकार जरूरी है। आपके कॉलेज, यूनिवर्सिटिज की आधुनिकता बढ़े, इसके लिए बीजेपी सरकार जरूरी है। आपको डबल इंजन की सरकार के रास्ते पर आने वाली हर रुकावट को दूर करते चलना है। भाजपा- स्कीम पर चलती है। TMC- स्कैम पर चलती है। मैं पहली बार मतदाताओं से मतदान करने और सोनार बांग्ला के सपने को सच करने का आह्वान करता हूं। वाम, कांग्रेस और टीएमसी ने आपकी पिछली पीढ़ियों का काफी समय बर्बाद किया है। मैं आपका भविष्य बर्बाद नहीं होने दे सकता। 

बंगाल में भाजपा असली परिवर्तन लाकर दिखाएगी: मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर वोट बैंक के लिए तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए सवाल उठाया कि उनका ‘‘मां, माटी मानुष’’ का वादा बेमानी था क्योंकि उनके 10 वर्षों के शासन में आम जनता बेहाल रही जबकि उनकी पार्टी के नेता ‘‘मालामाल’’ होते चले गए। एक चुनावी रैली को यहां संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बंगाल में भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्थाएं मिलें, विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता मिले और महाविद्यालयों व विश्वविद्याालयों की आधुनिकता बढ़े, इसके लिए भाजपा की सरकार जरूरी है। ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति ने आपको क्या बना दिया है। आपने अपना ये असली चेहरा 10 साल पहले दिखा दिया होता तो बंगाल में कभी आपकी सरकार नहीं बनती। ये हिंसा, ये अत्याचार, ये उत्पीड़न ही करना था तो फिर मां-माटी-मानुष की बात क्यों की आपने?’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि बंगाल में ‘‘असली परिवर्तन’’ लाने के भाजपा के संकल्प का मतलब है कि यहां एक ऐसी सरकार लाना है, जो सरकारी योजनाओं का पैसा सौ फीसदी गरीबों तक पहुंचाए, ‘‘तोलाबाजों औरसिंडिकेट’’ को जेल भेजे और भ्रष्टाचारियों पर सख्त कार्रवाई करे। उन्होंने कहा, ‘‘अब भ्रष्टाचार का खेल नहीं चलेगा। अब सिंडिकेट का खेल नहीं चलेगा। अब कट मनी का खेल नहीं चलेगा। बंगाल के लोगों ने ठान लिया है। दो मई को दीदी जा रही है। असॉल पोरिबोर्तोन (असली परिवर्तन) आ रहा है। असली परिवर्तन बंगाल के विकास के लिए, बंगाल के गौरव को बढ़ाने के लिए। ऐसी सरकार लाने के लिए जो गरीबों की सेवा लाने लिए। असली परिवर्तन अब बंगाल में भाजपा लाकर दिखाएगी।’’ 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा ‘‘स्कीम’’ पर चलती है और टीएमसी ‘‘स्कैम’’ पर चलती है। उन्होंने कहा, ‘‘स्कीम किसी भी सरकार की हो, किसी ने भी लागू की हो लेकिन तृणमूल कांग्रेस स्कैम के लिए कोई न कोई तरीका निकाल ही लेती है। तृणमूल कांग्रेस का मंत्र ही है कि जहां स्कीम, वहां स्कैम।’’ प्रधानमंत्री ने दावा किया कि केंद्र के आयुष्मान भारत, पीएम किसान सम्मान निधि और ‘‘डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर’’ से जुड़ी योजनाओं में ‘‘स्कैम’’ संभव नहीं था इसलिए ममता सरकार ने इन्हें लागू करने से ही इनकार कर दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि वह जब चुनावी रैली को संबोधित करने सभा स्थल पहुंच रहे थे, तब उन्होंने देखा कि यहां ‘‘दीदी के लोग दीवारों पर तस्वीरें बना रहे हैं जिसमें ‘‘दीदी मेरे सिर पर अपना पैर मार रही हैं।’’ मोदी ने कहा, ‘‘दीदी मेरे सिर के साथ फुटबॉल खेल रही हैं।’’ उन्होंने पूछा, ‘‘आप बंगाल के संस्कार, यहां की महान परंपरा का अपमान क्यों कर रही हैं दीदी?’’ प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी पर हमला करते हुए कहा कि वह अब उन्हें बंगाल के लोगों के सपनों और गरीब आदिवासी-वनवासी भाई-बहनों को ‘‘लात’’ नहीं मारने देंगे। प्रधानमंत्री ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर सवाल खड़ा करने के लिए भी ममता बनर्जी को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा, ‘‘दीदी अभी से ईवीएम पर सवाल खड़े करने लगी हैं। 10 साल जिस ईवीएम ने उन्हें सत्ता सौंपी, वही ईवीएमअब उन्हें रास नहीं आ रही है। साफ है, दीदी आपको पराजय दिन में भी दिखता है और पराजय रात में भी दिखता है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़