कोरोना और कड़ाके की ठंड के बीच दिल्ली पर प्रदूषण की मार वायु गुणवत्ता की खराब श्रेणी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   13:57
कोरोना और कड़ाके की ठंड के बीच दिल्ली पर प्रदूषण की मार वायु गुणवत्ता की खराब श्रेणी

दिल्ली की वायु गुणवत्ता सोमवार को “खराब” श्रेणी में दर्ज की गई। शहर के 38 में से 14 निगरानी केंद्रों में वायु गुणवत्ता “बेहद खराब” श्रेणी में दर्ज की गई। सरकारी एजेंसियों ने यह जानकारी दी।

नयी दिल्ली। दिल्ली की वायु गुणवत्ता सोमवार को “खराब” श्रेणी में दर्ज की गई। शहर के 38 में से 14 निगरानी केंद्रों में वायु गुणवत्ता “बेहद खराब” श्रेणी में दर्ज की गई। सरकारी एजेंसियों ने यह जानकारी दी। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मोबाइल ऐप समीर के अनुसार सोमवार की सुबह शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 281 दर्ज किया गया।

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 संबंधी हालत को लेकर केंद्र और राज्य सरकार को SC का निर्देश, दिन के भीतर पेश करें स्थिति रिपोर्ट

यह रविवार को 274 था। उल्लेखनीय है कि शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘अत्यंत खराब’ और 401 से 500 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: भारत में कोविड-19 के मामले 91 लाख के पार, 1,33,738 लोगों ने गवाई अपनी जान

आनंद विहार, अशोक विहार, बवाना, द्वारका सेक्टर आठ, जहांगीरपुरी, मुंडका, नरेला और रोहिणी के निगरानी केंद्रों में एक्यूआई “बेहद खराब” दर्ज किया गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।