मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रफुल्ल पटेल दूसरे दिन ईडी के समक्ष पेश हुए

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 11 2019 12:47PM
मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रफुल्ल पटेल दूसरे दिन ईडी के समक्ष पेश हुए
Image Source: Google

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा) नेता को मामले में बतौर आरोपी नामजद नहीं किया गया है। पटेल 2004 और 2011 के बीच नागरिक उड्डयन मंत्रालय के प्रभारी रहे हैं।

नयी दिल्ली। पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री एवं राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल कई करोड़ रुपए के कथित उड्डयन घोटाले के कारण एयर इंडिया को हुए घाटे से संबंधित धन शोधन मामले की जांच के सिलसिले में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश हुए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। पटेल पूर्वाह्न करीब 10 बजे यहां एजेंसी के मुख्यालय में उसके समक्ष पेश हुए। एजेंसी ने सोमवार को भी उनसे पूछताछ की थी।

इसे भी पढ़ें: ED ने विमानन घोटाले को लेकर प्रफुल्ल पटेल से की आठ घंटे तक पूछताछ

मामले के जांच अधिकारी ने सोमवार को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत सोमवार को पटेल का बयान दर्ज किया था और ऐसा बताया जा रहा है कि पटेल ने एजेंसी के साथ ‘‘सहयोग’’ किया। अधिकारियों ने बताया था कि राज्य सभा सदस्य पटेल से मंगलवार को फिर से पेश होने को कहा गया था क्योंकि पूछताछ और उनके बयानों की रिकॉर्डिंग अभी जारी है। यह मामला अंतरराष्ट्रीय एयरलाइनों के लिए हवाई स्लॉट्स तय करने में कथित अनियमितताओं को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दर्ज की गई आपराधिक शिकायत से सामने आया। इसमें राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया को घाटा हुआ।

इसे भी पढ़ें: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल ईडी के समक्ष हुए पेश



जांच एजेंसी ने अदालत में हाल ही में जो आरोपपत्र दायर किया उसमें पटेल (62) को ऐसे व्यक्ति के तौर पर नामजद किया गया जिसे उड्डयन लॉबिस्ट दीपक तलवार जानता है। ईडी ने कुछ समय पहले तलवार को गिरफ्तार किया था। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा) नेता को मामले में बतौर आरोपी नामजद नहीं किया गया है। पटेल 2004 और 2011 के बीच नागरिक उड्डयन मंत्रालय के प्रभारी रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: आखिर सुर्खियों में क्यों हैं प्रफुल्ल पटेल, जानें पूरा कारण

ईडी पहले ही सरकारी एयरलाइन और उड्डयन मंत्रालय के वरिष्ठ प्रबंधन में कई लोगों से पूछताछ कर चुका है। मामले में ईडी के आरोपपत्र में तलवार को नामजद किया गया है और दावा किया गया है कि वह पटेल के नियमित संपर्क में था। आरोपपत्र के अनुसार, तलवार ने अपने संपर्कों का इस्तेमाल कर निजी एयरलाइनों के लिए अनुचित लाभ हासिल किए। तलवार को दुबई से प्रत्यर्पित किए जाने के बाद इस साल की शुरुआत में ईडी ने गिरफ्तार किया था।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप