जालंधर कैंट में दो हॉकी ओलंपियन के बीच होगा दिलचस्प मुकाबला, राजनीतिक मैदान में गोल दागने में किसे मिलेगी सफलता ?

जालंधर कैंट में दो हॉकी ओलंपियन के बीच होगा दिलचस्प मुकाबला, राजनीतिक मैदान में गोल दागने में किसे मिलेगी सफलता ?
प्रतिरूप फोटो

इस बार जालंधर कैंट से दो ओलंपियन हॉकी खिलाड़ी मैदान में हैं। यह दोनों ही उम्मीदवार पुलिस में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। चरणजीत सिंह चन्नी सरकार में खेल व शिक्षा मंत्री परगट सिंह को कांग्रेस ने जालंधर कैंट से चुनावी मैदान में उतारा है। वह तीसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं।

जालंधर। उत्तर भारत के महत्वपूर्ण राज्यों में से एक पंजाब में भी ठंड की ठिठुरन बढ़ती जा रही है लेकिन विधानसभा चुनाव के चलते राजनीतिक सरगर्मियां काफी तेज दिखाई दे रही हैं। तमाम दल मतदाताओं को लुभाने में जुटे हुए हैं। 117 सीटों वाले प्रदेश में 20 फरवरी को मतदान होगा और 10 मार्च को चुनाव के नतीजे सामने आएंगे। जिसमें स्पष्ट होगा कि कांग्रेस सत्ता बरकरार रख पाने में कामयाब हुई या फिर आम आदमी पार्टी ने बाजी मार ली है क्योंकि तमाम तरह के सर्वे और ओपीनियन पोल में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच मुकाबले की बात कही जा रही है। 

इसे भी पढ़ें: अमरिंदर सिंह ने सिद्धू को लेकर किया बड़ा खुलासा, इमरान ने की थी मंत्रिमंडल में शामिल करने की सिफारिश 

ओलंपियन्स के बीच होगा मुकाबला

आपको बता दें कि जालंधर कैंट से दो ओलंपियन हॉकी खिलाड़ी मैदान में हैं। यह दोनों ही उम्मीदवार पुलिस में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। चरणजीत सिंह चन्नी सरकार में खेल व शिक्षा मंत्री परगट सिंह को कांग्रेस ने जालंधर कैंट से चुनावी मैदान में उतारा है। वह तीसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं और राजनीति में आने से पहले वो हॉकी की दुनिया में सर्वश्रेष्ठ डिफेंडर के तौर पर जाने जाते हैं। इसके अलावा उन्होंने 1992 के बार्सिलोन ओलंपिक और अटलांटा ओलंपिक में भारतीय टीम की कप्तानी भी संभाली है।

सियासी मैदान में भी दाग चुके हैं गोल

परगट सिंह को ना सिर्फ हॉकी के मैदान में बल्कि सियासी मैदान में भी गोल दागने का अनुभव है। उन्होंने साल 2012 के चुनावों में शिरोमणि अकाली दल से और साल 2017 में कांग्रेस की टिकट पर चुनाव जीता था और इस बार पार्टी ने फिर से उन पर दांव लगाया है। परगट सिंह को पद्मश्री और अर्जुन अवॉर्ड मिल चुका है। परगट सिंह जालंधर की सुरजीत सिंह मेमोरियल हॉकी टूर्नामेंट सोसायटी के उपाध्यक्ष हैं और वर्तमान में राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा नामित हॉकी पंजाब के महासचिव भी हैं।

कौन हैं सुरिंदर सिंह सोढ़ी ?

आम आदमी पार्टी ने सुरिंदर सिंह सोढ़ी को जालंधर कैंट से अपना उम्मीदवार बनाया है। उन्होंने साल 1980 के मास्को ओलंपिक में भारत को स्वर्ण पदक दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इस दौरान उन्होंने कुल 15 गोल दागे थे। इसस पहले 1978 में पंजाब सरकार ने उन्हें महाराजा रणजीत सिंह पुरस्कार से सम्मानित किया था। उन्हें अर्जुन अवॉर्ड और पुलिस मेडल अवॉर्ड से नवाजा जा चुका है। पंजाब पुलिस में आईजी पद से रिटायर होने के बाद इन्होंने राजनीति में आने का निर्णय लिया था। 

इसे भी पढ़ें: ऐसा रहा है चमकौर साहिब का इतिहास, कांग्रेस के टिकट नहीं देने पर भी चन्नी ने जीता था चुनाव

सुरिंदर सिंह सोढ़ी को सियासी मैदान में गोल दागने का अनुभव तो नहीं है लेकिन उन्होंने अपनी किस्मत की आजमाइश करने के लिए उन्होंने परगट सिंह के साथ मुकाबला करने की ठानी है। वह पहली बार आम आदमी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...