चरमरा रही है पंजाब की कानून-व्यवस्था, राज्य के बाहर ज्यादा समय बिता रहे CM: पटियाला की घटना पर बोले अनुराग ठाकुर

चरमरा रही है पंजाब की कानून-व्यवस्था, राज्य के बाहर ज्यादा समय बिता रहे CM: पटियाला की घटना पर बोले अनुराग ठाकुर
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री पंजाब में कम और पंजाब के बाहर ज्यादा समय बिता रहे हैं... क्या उन लोगों के खिलाफ कड़े कदम उठाए जाएंगे जिन्होंने शांति को भंग करने का काम किया है... पंजाब में शांति हो, विकास हो, भाईचारा बना रहे ये भाजपा की प्राथमिकता रही है।

चंडीगढ़। पंजाब के पटियाला जिले में खालिस्तान विरोधी मार्च को लेकर दो समूहों के बीच हिंसक झड़प हुई। जिसमें चार लोग जख्मी हो गए। इस संबंध में शिवसेना नेता हरीश सिंगला को गिरफ्तार किया गया है। इसी बीच केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने प्रदेश की भगवंत मान सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पंजाब में क़ानून व्यवस्था कैसे चरमरा रही है। 

इसे भी पढ़ें: पटियाला में इंटरनेट सेवाएं की गईं निलंबित, जानिए कब तक रहेगा बाधित 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि चुनाव से पहले और चुनाव के दौरान भी आम आदमी पार्टी की क्षमता और सोच पर सवाल उठे। उनके रिश्ते जिन लोगों के साथ हैं और किस सोच को वो बढ़ावा देते हैं, इस पर भी सवाल उठाए गए। पटियाला में जो हुआ है, वो संकेत है कि पंजाब में क़ानून व्यवस्था कैसे चरमरा रही है।

उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री पंजाब में कम और पंजाब के बाहर ज्यादा समय बिता रहे हैं... क्या उन लोगों के खिलाफ कड़े कदम उठाए जाएंगे जिन्होंने शांति को भंग करने का काम किया है... पंजाब में शांति हो, विकास हो, भाईचारा बना रहे ये भाजपा की प्राथमिकता रही है। 

इसे भी पढ़ें: पटियाला झड़प में बड़ा एक्शन! आईजी, एसएसपी समेत तीन पुलिस अधिकारियों का तबादला 

FIR की गई दर्ज

पटियाला की जिला मजिस्ट्रेट साक्षी साहनी ने कहा कि मामले में एफआईआर दर्ज की गई है, पुलिस कार्रवाई कर रही है। आज 6 बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद रहेंगी तो घबराने की जरूरत नहीं है। मैं सबसे अनुरोध करूंगी कि सब शांति बनाए रखें। यहां की स्थिति नियंत्रण में है और हम लगातार निगरानी कर रहे हैं। मामले में एक व्यक्ति गिरफ्तार हुआ है। घटना में जख्मी हुए सभी मरीज की हालत स्थिर है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।