रेडियो श्रृंखला 'कोरोना से जंग, सावधानी के संग' का शुभारंभ

Alfaz-e-Mewat
हर एपिसोड के बाद लाइव चर्चा के माध्यम से श्रोता सामुदायिक रेडियो के स्टूडियो नंबर 9813164542 पर फ़ोन के माध्यम से जोड़ सकते है और ओमिक्रोन या कोविड से संबंधित जानकारी ले सकते है।

(प्रेस विज्ञप्ति) कोरोना वायरस को ग्रामीण समुदायों में फैलने से रोकने और उन्हें इसके प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से सामुदायिक रेडियो अल्फाज़–ए–मेवात एफ एम 107.8 सीकिंग मॉडर्न एप्लीकेशन फॉर रियल ट्रांसफॉर्मेशन (स्मार्ट SMART) द्वारा समर्थित रेडियो सीरीज “कोरोना से जंग, सावधानी के संग’’ की शुरुआत 1 फरवरी 2022 से करने जा रहा है। एसएम सहगल फाउंडेशन की प्रिंसिपल लीड, आउटरीच फॉर डेवलपमेंट और सामुदायिक रेडियो अल्फाज़–ए–मेवात की प्रतिनिधि पूजा मुरादा ने बताया कि “यह 06-एपिसोड की रेडियो श्रृंखला ओमाइक्रोन के लक्षणों, उपचार स्व-देखभाल, COVID टीकाकरण और COVID उपयुक्त व्यवहार को बढ़ावा देने पर केंद्रित है। 

इसे भी पढ़ें: हर्निया का सर्जरी कराने गए पुरुष के अंदर निकला महिला का प्राइवेट पार्ट, डॉक्टर हुए हैरान

श्रृंखला का उद्देश्य समुदाय को वायरस, उसके कारणों और प्रभावों के बारे में सूचित करना है ताकि संक्रमण को कम करने के लिए समुदाय के बीच रोकथाम का एक चक्र बनाया जा सके। हर एपिसोड के बाद लाइव चर्चा के माध्यम से श्रोता सामुदायिक रेडियो के स्टूडियो नंबर 9813164542 पर फ़ोन के माध्यम से जोड़ सकते है और ओमिक्रोन या कोविड से संबंधित जानकारी ले सकते है। कार्यक्रम में उपरोक्त विषयों पर आरजे लिंक भी तैयार किए गए है जिससे श्रोता महत्वपूर्ण जानकारी आसान तरीके से याद रखेंगे।”

इसे भी पढ़ें: नेताजी ने आजाद हिंद रेडियो पर गांधी को कहा था पहली बार 'राष्ट्रपिता': प्रो. कृपाशंकर चौबे

“कोरोना से जंग, सावधानी के संग’” रेडियो सीरीज 1 फरवरी से हर मंगलवार सुबह 9:45 पर और शाम 7:35 पर पुन: प्रसारित की जाएगी। इस रेडियो सीरीज के ज़रिए ग्रामीण इलाकों में कोरोना से जुड़ी अहम जानकारी साझा की जाएगी। उम्मीद है कि अल्फाज़–ए–मेवात का यह प्रयास समुदाय को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने में कामयाब रहेगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़