शहीदों के परिवार से मुलाकात कर राहुल और प्रियंका ने बंधाया ढाढस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 20, 2019   17:36
शहीदों के परिवार से मुलाकात कर राहुल और प्रियंका ने बंधाया ढाढस

राहुल गांधी ने कहा, मेरी बहन ने कहा कि एक प्रकार से हमारे पिता (पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी)के साथ भी यही हुआ था। हम आपकी पीड़ा समझते हैं।

लखनऊ। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी बहन एवं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ शहीद अमित कुमार कोरी को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित प्रार्थनासभा में शामिल हुए और परिवार को ढाढस बंधाया। कांग्रेस ने ट्वीट करके बताया कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव एवं पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी शहीद अमित कुमार कोरी को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित प्रार्थनासभा में शामिल हुए और परिवार वालों को ढाढस बंधाया। दोनों नेताओं ने शहीद के चित्र पर पुष्प अर्पित करके श्रद्धांजलि दी।

शामली में हुई प्रार्थनासभा में कांग्रेस महासचिव एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर भी मौजूद थे। प्रार्थनासभा में उत्तर प्रदेश के गन्ना विकास मंत्री सुरेश राणा भी शामिल हुए। राहुल ने कहा कि दुख की इस घडी में हम सभी आपके साथ हैं। मैं कहना चाहता हूं कि हमें दु:ख है लेकिन साथ ही शहीद पर गौरव भी है कि इस देश के एक परिवार ने अपने पुत्र को भरपूर प्यार दिया और उसे पढ़ाया। पुत्र ने अपना प्यार, शरीर और हृदय देश को दिया। हम इस बात को कभी नहीं भूल सकते।

यह भी पढ़ें: गठबंधन के बाद पहली बार बोले उद्धव ठाकरे, शिवसेना का ही होगा मुख्यमंत्री

राहुल गांधी ने कहा, मेरी बहन ने कहा कि एक प्रकार से हमारे पिता (पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी)के साथ भी यही हुआ था। हम आपकी पीड़ा समझते हैं। हम यहां केवल आपके साथ पांच मिनट बैठने आये हैं और यह बताने आये हैं कि हम आपका दु:ख बांटना चाहते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, मैं सीआरपीएफ के शहीदों के परिवार वालों को कहना चाहता हूं कि दुनिया की कोई भी ताकत इस देश को पीछे नहीं ढकेल सकती। यह जांबाजों का देश है और उन्होंने मिसाल कायम की है। हम अपने हृदय की गहराइयों से और देश की ओर से आपका, आपके बेटे और पूरे परिवार का धन्यवाद करते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...