राहुल पर बरसे केजरीवाल, बोले- शक्ल दिखाने लायक नहीं हैं राहुल, 5 साल में पूरे नहीं किए एक भी वादे

राहुल पर बरसे केजरीवाल, बोले- शक्ल दिखाने लायक नहीं हैं राहुल, 5 साल में पूरे नहीं किए एक भी वादे

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चरणजीत सिंह चन्नी, नवजोत सिंह सिद्धू और सुखबीर सिंह बादल मुझे गालियां देते हैं। ये सारे मुझे ही गालियां देते हैं, दूसरों को गालियां नहीं देते, 60 साल में पंजाब इन्होंने लूटा और गालियां ये सब मुझे देते हैं।

अमृतसर। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को अमृतसर में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि चुनाव का माहौल काफी दिन से चल रहा है, राहुल गांधी आज बहुत देर से आए। वो शायद शक्ल दिखाने लायक भी नहीं हैं क्योंकि पिछली बार कांग्रेस ने जितने वादे किए थे उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया। दरअसल, राहुल गांधी ने चुनाव कार्यक्रम की घोषणा होने के बाद गुरुवार को जालंधर में पहली रैली को संबोधित किया है। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब में कांग्रेस का मुख्यमंत्री चेहरा कौन ? राहुल गांधी ने जालंधर में दिया यह जवाब 

विपक्षियों पर बरसे केजरीवाल

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चरणजीत सिंह चन्नी, नवजोत सिंह सिद्धू और सुखबीर सिंह बादल मुझे गालियां देते हैं। ये सारे मुझे ही गालियां देते हैं, दूसरों को गालियां नहीं देते, 60 साल में पंजाब इन्होंने लूटा और गालियां ये सब मुझे देते हैं।

राहुल ने स्वर्ण मंदिर में टेका मत्था

आपको बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी चुनाव कार्यक्रम की घोषणा होने के बाद गुरुवार को पहली बार पंजाब पहुंचे हैं। जहां पर उन्होंने स्वर्ण मंदिर समेत कई पवित्र स्थानों पर अपना मत्था टेका। इस दौरान राहुल गांधी के साथ पार्टी के सभी उम्मीदवार और मुख्यमंत्री चन्नी भी मौजूद रहे। वहीं राहुल गांधी जालंधर में वर्चुअल माध्यम से रैली को संबोधित करते हुए पार्टी के मुख्यमंत्री दावेदार को लेकर भी स्थिति स्पष्ट की। 

इसे भी पढ़ें: आंदोलन का केंद्र रहे मानसा में नए चेहरों के मैदान में आने से कांटे का हुआ मुकाबला 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी और प्रदेशाध्यक्ष सिद्धू ने उन्हें आश्वासन दिया है कि जो भी मुख्यमंत्री का चेहरा होगा, उसका वह समर्थन करेंगे। आम तौर पर हम ऐसा नहीं करते हैं लेकिन अगर कांग्रेस पार्टी, हमारे कार्यकर्ता और पंजाब के लोग ऐसा चाहते हैं तो हम मुख्यमंत्री के चेहरे पर फैसला लेंगे। उन्होंने कहा कि हम अपने कार्यकर्ताओं से सलाह मशविरा करने के बाद यह फैसला करेंगे। बाकी (नेता) एक टीम के तौर पर काम करेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।